जानिए कौन हैं आफरीन फातिमा, प्रयागराज हिंसा के बाद जिनके घर पर चला बुलडोजर, JNU से है नाता


नूपुर शर्मा की ओर से पैगंबर पर विवादित टिप्पणी के बाद यूपी में शुक्रवार को नमाज के बाद हिंसक प्रदर्शन हुए  इसके बाद पुलिस ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रही है। पुलिस ने प्रयागराज में हुई हिंसा के मास्टरमाइंड बताए जा रहे जावेद मोहम्मद उर्फ जावेद पंप के घर रविवार को बुलडोजर चलाया कार्रवाई में आफरीन फातिमा का घर भी जमींदोज हुआ है। दरअसल, आफरीन फातिमा जावेद अहमद की बेटी हैं।

शरजील इमाम की है करीबी

आफरीन को शाहीनबाग साजिश के मास्टरमाइंड शरजील इमाम की करीबी बताया जा रहा है। उसने जेएनयू के भाषा विज्ञान केंद्र से स्नातकोत्तर (एमए) किया और 2021 में यूनिवर्सिटी छोड़कर चली गई। जानकारी के मुताबिक, आफरीन ने प्रयागराज के सेंट मेरीज कान्वेंट स्कूल से हाईस्कूल और इंटर पास किया। स्नातक (बीए) के लिए उसने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में दाखिला लिया था। एएमयू से उसने लिंग्विस्टिक्स में बीए आनर्स और एमए किया।

कॉलेज से थी राजनीति में सक्रिय

एएमयू में महिला कालेज की अध्यक्ष रहते हुए वह वहां की छात्र राजनीति में सक्रिय रही है। एएमयू के बाद उसने जेएनयू में दाखिला लिया था। 2019 में दिल्ली में सीएए व एनआरसी के खिलाफ चले आंदोलन में उसने काफी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया था। पुलिस का कहना है कि शाहीनबाग साजिश के मास्टरमाइंड शरजील इमाम की वह करीबी है। अफजल गुरु को भी उसने निर्दोष बताया था, जिसे 2001 में संसद हमले का दोषी ठहराते हुए फांसी दी जा चुकी है।

अफजल गुरू पर बोली- कभी नहीं भूलेंगे

आफरीन फातिमा ने ट्विटर पर अफजल गुरु के खिलाफ फैसले को लेकर कहा था- रीविजिट अगेन एंड अगेन, फैसले को पढ़ें, बार-बार पढ़ें। इसे कभी नहीं भूलेंगे। बता दें कि आफरीन फातिमा ने सरकार के साथ ही सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ भी जहर उगला था। उसने सुप्रीम कोर्ट के राम मंदिर और आतंकवादी अफजल गुरु की फांसी जैसे फैसलों पर संदेह जताते हुए कोर्ट का अपमान भी किया था।

5 घंटे में जावेद पंप का घर नेस्तनाबूद

बता दें कि प्रयागराज प्रशासन ने 3 बुलडोजर और पोकलेन मशीन के जरिए 5 घंटे तक चली कार्रवाई के बाद जावेद पंप के मकान को पूरी तरह से ढहा दिया। बता दें कि जावेद पंप का नगर इलाहाबाद के गौसनगर में था। बुलडोजर चलाने से पहले जावेद पंप के घरवालों को सामान हटाने का नोटिस दिया गया था। प्रशासन ने करीब 10 हजार पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई थी, ताकि कोई अप्रिय घटना न हो।

जुमे की नमाज के बाद भड़की थी हिंसा

बता दें कि बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के पैगम्बर मोहम्मद के खिलाफ दिए विवादित बयान के बाद उत्तर प्रदेश के प्रयागराज और सहारनपुर समेत कई जिलों में जुमे की नमाज के बाद लोगों ने नारेबाजी और पथराव किए। पुलिस ने बताया कि इस घटना को बेहद गंभीरता से लिया गया है और थाना खुल्दाबाद और थाना करेली में 70 नामजद अभियुक्तों और 5000 से भी ज्यादा अज्ञात शरारती तत्वों के खिलाफ 29 गंभीर धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि वीडियो फुटेज के आधार पर इन शरारती तत्वों की पहचान की जा रही है, कई लोगों को मौके पर हिरासत में लिया गया और उनसे पूछताछ के आधार पर अन्य लोगों को भी पकड़ा गया।

हिंसा पर सख्त योगी

सीएम योगी ने कल अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा था कि दंगाई के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। हिंसा में जो नुकसान हुआ है उसकी भरपाई दंगाइयों से की जाए और आज इस मामले में प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई करते हुए हिंसा के मुख्य आरोपी जावेद अहमद पंप के घर पर बुलडोजर कार्रवाई की गई।