UPTET पेपर लीक के मामले में योगी सरकार ने लिया कड़ा एक्शन, 26 आरोपी हुए गिरफ्तार बाकी की जाँच में सीबीआई मांग।


इस देश में एक्साम्स का लीक होना अब आम बात हो गयी है , ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश में यूपीटीईटी की परीक्षा पेपर लीक होने का है जहाँ सरकार के मुताबिक ये परीक्षा रविवार यानी (28 नवंबर) को होनी थी, लेकिन लीक होने की वजह से इसे अभी टाल दिया गया है। इस मामले में अब तक 26 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.यूपीएसटीएफ ने प्रयागराज, लखनऊ, कौशांबी, मेरठ से लेकर गोरखपुर और वाराणसी में छापेमारी की. यूपी एसटीएफ ने इस मामले में दो सॉल्वर गैंग के सरगना को भी गिरफ्तार कर लिया है. अब इस पर केस भी फाइल कर लिया गया है।

यूपी एसटीएफ ने इस मामले में सबसे ज्यादा प्रयागराज से 16 लोगों को गिरफ्तार किया है. इनमें प्रयागराज के नैनी इलाके से सॉल्वर गैंग के सरगना राजेंद्र पटेल और बिहार के सॉल्वर समेत 8 लोग गिरफ्तार किए गए हैं. झूसी इलाके से 3 और जार्जटाउन से 5 लोगों को पुलिस ने दबोचा है. इस मामले में पुलिस ने तलाश शुरू कर दी है योगी सरकार के मुताबिक इस मामला में सख्ती बरती जाएगी। पुलिस के मुताबिक कौशांबी से गिरफ्तार रोशन सिंह पटेल ने टीईटी की पहली पाली का पेपर लीक किया था. जबकि मेरठ से गिरफ्तार मनीष रवि और धर्मेंद्र ने दूसरी पाली का पेपर लीक किया.

जानकारी के लिए बता दे इनकी गैंग में कई लोग शामिल हैं. जिन्होंने दूसरी पाली के पेपर की  5 लाख में 10 प्रतियां ली थीं. फिर इसे 50-50 हजार में 50 से 60 अभ्यर्थियों को बेच दिया. यूपी एसटीएफ ने चित्रकूट के रहने वाले रोशन पटेल के पास से पहली पाली का पेपर बरामद किया. रोशन पटेल चित्रकूट की मंझनपुर तहसील में लैब टेक्नीशियन है. एसटीएफ के मुताबिक रोशन पटेल को यह पेपर लखनऊ में किसी शख्स ने मुहैया कराया था. जिसे लेकर वह कौशांबी जा रहा था.लेकिन पुलिस ने उनका ये मिशन बीच में रोक दिया।

प्रयागराज के नैनी इलाके से गिरफ्तार राजेंद्र पटेल भी सॉल्वर गैंग का मैन लीडर है. जिसे बिहार का रहने वाला सनी सॉल्वर मुहैया कराता था. यूपी एसटीएफ ने झूसी से शिक्षा विभाग में सहायक अध्यापक सत्य प्रकाश सिंह को गिरफ्तार किया है. सत्य प्रकाश सिंह के व्हाट्सएप पर टीईटी का सॉल्व पेपर यूपी एसटीएफ को मिला है. यूपी एसटीएफ पकड़े गए सॉल्वर गैंग के सरगनाओं से पूछताछ कर रही है. रिपोर्ट्स के मुताबिक अब तक 3 सॉल्वर गैंग सरगना पकड़े जा चुके हैं.

बता दे इस मामले में एसटीएफ चीफ एडीजी प्रशांत कुमार का कहना है कि हम किसी को नहीं छोड़ेंगे, कोई भी नहीं बक्शा जाएगा, कड़ी से कड़ी मिलाई जा रही है. जहां तक इस पेपर लीक के तार जाएंगे, वहां तक हर व्यक्ति को पकड़ा जाएगा. वह फिर चाहे कोई भी हो.पेपर लीक मामले की सीबीआई जांच की मांग को लेकर याचिका दाखिल की गई है. हाईकोर्ट के अधिवक्ता गौरव द्विवेदी ने चीफ जस्टिस को याचिका पत्र भेजा है. इसमें जिम्मेदार अधिकारियों को सस्पेंड करने की मांग की गई है.