भारत रत्न से सम्मानित होने वाले व्यक्तियों को मिलती है देश की ये बड़ी सुविधाएं


भारत में मिलने वाला भारत रत्न अवार्ड देश के उन लोगों को दिया जाता है जिन्होंने राष्ट्रिय सेवा में अपना योगदान दिया है , भारत रत्न को सर्वोच्च नागरिक सम्मान कहा जाता है , इसकी स्थापना 1954 में 2 जनवरी को भारत के पूर्व और सबसे पहले राष्ट्रपति श्री राजेंद्र प्रसाद के द्वारा की गई थी , 1955 में इसका प्रावधान बनाया गया था | ये सम्मान उन लोगों को दिया जाता है जिन्होंने देश के लिए विज्ञान, कला , खेल , सार्वजनिक सेवा और साहित्य में अपना योगदान दिया है | आज हम आपको इस लेख के माध्यम से ये बताएंगे की भारत रत्न से सम्मानित होने वाले व्यक्ति को क्या -क्या सुविधा दी जाती है |

नहीं मिलती है धन राशि 

भारत रत्न से सम्मानित होने वाले व्यक्ति को कोई धन राशि तो नहीं मिलती पर एक प्रमाण पत्र और मैडल दिया जाता है , मैडल एक पीतल का पत्ता होता है जिस पर सूर्य बना होता है और उस पर भारत रत्न लिखा होता है |

‘Warrant of Presidency’  में मिलती है जगह 

भारत रत्न से सम्मानित होने वाले को सरकार द्वारा ‘Warrant of Presidency’ में जगह दी जाती है , ये एक तरह का प्रोटोकॉल होता है जिसके तहत उन्हें राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, पूर्व राष्ट्रपति, उपप्रधानमंत्री, मुख्य न्यायाधीश, लोकसभा स्पीकर, कैबिनेट मंत्री, मुख्यमंत्री, पूर्व प्रधानमंत्री और संसद के सदनों में विपक्ष के नेता के बाद जगह मिलती है |

ट्रैवेलिंग की मुफ्त सुविधा 

जिन लोगों को भारत रत्न मिलता है उनके लिए flights में ट्रेवल करना मुफ्त कर दिया जाता है और तो और हवाई सेवा ही नहीं बल्कि रेल और बस की भी सुविधाएं उनक लिए फ्री कर दी जाती है |

कौन कौन हो चूका है सम्मानित 

भारत रत्न पाने वाला व्यक्ति विजिटिंग कार्ड पर अपने भारत रत्न के सम्मान के बारे में लिख सकता है , बता दे अब तक ये सम्मान स्वर कोकिला रह चुकी दिवंगत लता मंगेशकर , गॉड ऑफ़ क्रिकेट कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर को , क्रिकेट में अपना महत्वपूर्ण योगदान देने वाले महेंद्र सिंह धोनी को और भारत के 2 बार प्रधान मंत्री रह चुके अटल विहारी वाजपाई को मिल चूका है |