किन्नर समाज के लिए यूपी सरकार का बड़ा फैसला, अब घर-घर जाकर गाना गाने की बजाय करेंगे ये काम


शहरी इलाके में रहने वाले लोग अगर अपने घर और दरवाजे पर किसी किन्नर की उपस्थिति और आवाज सुनकर ही घबरा जाते है क्योंकि उनके अंदर इस बात का डर रहता है कि किन्नर उनके घर आकर उनसे कितने पैसों को वसूल करेगा. वहीं आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यूपी में अब किन्नर आपके घर बधाई देने.

गाना गाने या फिर किसी भी तरह के शागुन लेने नहीं बल्कि अब आपसे टैक्स वसूल करने के लिए आपके घर के दरवाजों पर आएंगे. यूपी का गोरखपुर नगर निगम इस नई व्यवस्था की शुरुआत करने जा रही है. जल्द ही टैक्स वसूल करने के लिए गुजरात मॉडल गोरखपुर में भी लागू किया जाएगा. जो किन्नर बधाई गाकर दरवाजे पर पहुंचे हैं, वे अब घर-घर जाकर हाउस टैक्स वसूलेंगे.

‘मुख्य धारा में शामिल हो रहे किन्नर’

नगर निगम उन्हें इस काम के लिए जरूर हायर करेगा. उसका काम यह होगा कि वह अलग-अलग क्षेत्रों में जाकर अधिकारियों और कर्मचारियों की मदद से इस काम को अंजाम देगा. फिलहाल नगर निगम का बकाया 100 करोड़ से ज्यादा बताया जा रहा है. नगर आयुक्त द्वारा बताया गया कि किन्नरों की प्रतिभा का लाभ नगर निगम को मिलेगा.

किन्नरों को मिलेगी नौकरी

ज्ञात हो कि किन्नर कल्याण बोर्ड के सदस्य कंकेश्वरी गिरि उर्फ ​​किरण बाबा ने नगर आयुक्त अविनाश सिंह से मुलाकात की थी.  इसके बाद नगर आयुक्त ने कहा कि किन्नर अब समाज की मुख्यधारा से जुड़ रहे हैं. किरण बाबा ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने किन्नर कल्याण बोर्ड बनाकर उन्हें एक बड़ा मंच दिया है.

आवास का उठाया मुद्दा

रिकवरी के साथ-साथ ट्रांसजेंडर समुदाय के लोगों को कार्यालय में क्लर्क और ड्राइवर की नौकरी भी दी जाएगी. इसकी शुरुआत 10 किन्नरों से होगी. इस बीच कंकेश्वरी गिरि उर्फ ​​किरण बाबा ने भी किन्नरों के आवास का मुद्दा उठाया है. माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में इस संबंध में भी कदम उठाए जा सकते हैं. अधिकारियों ने मांग पर विचार करने का आश्वासन दिया है.