भारत के ये विशाल हिन्दू मंदिर क्यों माने जाते है सबसे ख़ास, क्या है इनकी खसियत…


दुनिया भर में भगवानों के सैकड़ो मंदिर है हर मंदिर अपने आप में ही खूबसूरत है और हर मंदिर की अपनी अपनी आस्था है , आज हम आपको अपने इस लेख में विश्व के सबसे बड़े मंदिरो के बारे में बताएंगे जहां  भक्त जाना चाहता है  |

अंकोरवाट मंदिर

कंबोडिया देश में विश्व का सबसे बड़ा और विशाल मंदिर है , ये मंदिर वहां के अंकोरवाट इलाके में राजा सूर्य वर्मन II के द्वारा 12वी सदी में बनवाया गया था ये मंदिर भगवान विष्णु का है , ये मंदिर पुरे 500 एकड़ की ज़मीन पर बना हुआ है |

श्रीरंगनाथ मंदिर

तमिल नाडु में विश्व का दूसरे सबसे मंदिर बना हुआ है , ये मंदिर तमिलनाडु के त्रिची में बना हुआ है , ये मंदिर भगवान विष्णु का है जो पुरे  6,31,000 वर्गमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है , ये मंदिर विश्व में दूसरा और भारत का सबसे बड़ा मंदिर है |

अक्षरधाम मंदिर

देश की राजधानी दिल्ली में स्वामीनारायण का सबसे बड़ा मंदिर बनाया गया है , ये दिल्ली का सबसे बड़ा मंदिर है , रोज़ाना यहाँ पर हज़ारो टूरिस्ट्स इस मंदिर में आते है , ये मंदिर पुरे 2,40,000 वर्गमीटर के क्षेत्र में बनाया गया है , ये मंदिर जितना खूबसूरत बाहर से है उतना ही अंदर से भी है |

बृहदेश्वर मन्दिर

तमिलनाडु के थंजावुर में बना बृहदेश्वर मंदिर काफी बड़ा है और पुरे 10,24,00 वर्गमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है , ये मंदिर पुरे 1000 साल पुराना है इसे राजा चोलाI द्वारा बनवाया गया था |

एकंबरेश्वर मंदिर

दक्षिण भारत के  कांचीपुरम में बना एकंबरेश्वर मंदिर दुनिया के सबसे बड़े मंदिरो में से एक है , ये मंदिर भगवान शिव का है , ये मंदिर 92,860 वर्गमीटर  के क्षेत्र में फैला हुआ है |

बेलूर मठ

कोलकाता में हुगली नदी के पास बेलूर मठ का मंदिर स्वामी विवेकानंद द्वारा बनवाया गया था , ये मंदिर माँ आद्याकालीका है , ये मंदिर पुरे 1,60,000 वर्गमीटर के क्षेत्र में बनवाया गया है , ये दुनिया का पांचवा सबसे बड़ा मंदिर है |