घर की इन जगहों पर रहता है राहु का खास स्थान, जिनमे गड़बड़ी बनाती है सबसे बड़ा काल दोष।


हमारे जीवन में जो कुछ भी हमारे साथ हो रहा है सब वास्तुदोष का ही किया कराया है। जिस तरह कुंडली में सभी ग्रहों का प्रभाव होता है, वैसे ही घर के अलग-अलग हिस्‍सों पर भी अलग-अलग ग्रहों का प्रभाव रहता है. यदि इन स्‍थानों पर कोई गड़बड़ी हो जाए तो वह ग्रह बुरा फल देने लगता है. हमारी लाइफस्टाइल उथल पुथल होजाती है। इसलिए हमे इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए की हम अपने जीवन में क्या कार्य और कैसे कर रहे है। आज हम आपको घर की उन दशाओ के बारे में बताने जा रहे है जहां पर राहु का प्रभाव होता है। आइये जानिए।

राहु हमारे मन में अचानक आने वाले विचारों का कारक है. यदि राहु सही हो तो व्‍यक्ति को कमाल के आइडिए आते हैं. वहीं राहु खराब होने पर व्‍यक्ति मानसिक तनाव से घिर जाता है. इसकी वजह से इंसान के बुरे दिन आने लगते है और मानसिक तनाव बढ़ने लगता है। यदि घर पर राहु का बुरा असर हो तो वह मकान भुतहा लगने लगता है. खाली पड़े, डरावने घरों को राहु का घर माना जाता है. इसके अलावा घर के आसपास कैक्‍टस, बबूल का उगना भी राहु के घर होने की निशानी होती है. ऐसे घरों में मरने मराने के योग बन जाते है . राहु बिगड़ने पर घरों में रिश्‍तेदारों का आना कम हो जाता है या लगभग बंद हो जाता है.

घर कर नैऋत्य कोण राहु का कोण है. इस जगह पर कभी भी गंदगी न रखें, वरना राहु दोष पैदा होता है. घर की सीढ़ियों पर राहु का स्‍थान होता है. यदि ये गलत दिशा में हों, टूटी-फूटी हों या गंदी हों तो राहु बुरा फल देने लगता है. टॉयलेट-वॉशरूम भी राहु के स्‍थान हैं. इनका भी गंदा रहना, टूटा-फूटा रहना या गलत दिशा में होना राहु दोष पैदा करता है.इन सभी चीज़ो को साफ़ सुथरा रखे ताकि राहु की दशा टल जाए और सभी दोष अच्छे में बदल जाए।

आपको बता दे की घर की छत पर भी राहु का स्‍थान होता है. छत पर कबाड़ जमा करने, उसे गंदा रखने से राहु अशुभ फल देने लगता है. छत यदि टूट गई हो तो भी उसे तुरंत सुधरवा लें.छत्त को हमेशा साफ़ सुथरा ही रखना चाहिए। घर के आसपास कांटेदार पेड़-पौधों का होना भी राहु दोष पैदा करता है. इन्‍हें तुरंत हटा दें. पुराने-फटे कपड़े: घर में पुराने फटे हुए कपड़े रखना या फटेहाल कपड़े पहनना राहु को नाराज करता है. इससे बचें.