फिल्मों में एंट्री से पहले शादी, 14 साल बाद तलाक, कुछ ऐसी रही चित्रांगदा सिंह की जिंदगी


राजस्थान के जोधपुर में जन्मी बॉलीवुड अदाकारा चित्रांगदा सिंह 30 अगस्त को अपना जन्मदिन मनाती हैं।  चित्रांगदा सिंह आर्मी अफसर की बेटी हैं और उनके भाई दिग्विजय सिंह गोल्फर हैं। अभिनेत्री ने दिल्ली के लेडी श्रीराम कॉलेज से होम साइंस में ग्रेजुएशन किया है। कॉलेज के दिनों से ही चित्रांगदा मॉडलिंग करने लगी थीं। उसी दौरान उन्हें कई बड़े विज्ञापन मिले।

बहुत कम लोग यह बात जानते होंगे कि पहली बार अभिनेत्री अल्ताफ राजा की एल्बम ‘तुम तो ठहरे परदेसी’ से लोगों की नजरों में आईं। जबकि, बॉलीवुड में उन्होंने फिल्म सॉरी भाई से कदम रखा। लंबे फिल्मी करियर के बावजूद चित्रांगदा अभिनय में वो शोहरत हासिल नहीं कर पाईं जिसकी वो हकदार हैं। इसके बाद उन्होंने फिल्म निर्माण में हाथ आजमाया। चित्रांगदा सोशल मीडिया पर खूब एक्टिव रहती हैं। वह अक्सर अपनी हॉट तस्वीरें साझा करती हैं। जन्मदिन के मौके पर चित्रांगदा सिंह की लाइफ से जुड़े किस्से हम आपको बताते हैं।

चित्रांगदा ने साल 2001 में भारतीय गोल्फर ज्योति रंधावा से शादी रचा ली। दोनों का एक बेटा जोरावर भी है। लेकिन दोनों का रिश्ता ज्यादा साल नहीं चला और साल 2014 में उनका तलाक हो गया। दोनों के अलग होने के बाद कई तरह की अफवाहें भी उड़ीं।

खबरों की मानें तो चित्रांगदा के फिल्मों में काम करने के फैसले से उनकी शादीशुदा जिंदगी में दरार आई थी और ये दरार तलाक में तबदील हो गई। चित्रांगदा का एक बेटा भी है, जिसकी कस्टडी अभिनेत्री को मिली है। कहा जाता है कि चित्रांगदा मुंबई में अपनी अपने बेटे जोरावर के साथ शिफ्ट हो गई थीं और रंधावा चाहते थे कि चित्रांगदा दिल्ली में उनके और बेटे के साथ रहें। चित्रांगदा अपने करियर पर फोकस करना चाहती थीं और दोनों की नहीं जमी।

बता दें कि जब चित्रांगदा ने अपनी पहली फिल्म सुधीर मिश्रा की फिल्म ‘हज़ारों ख्वाहिशें ऐसी’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया। चित्रांगदा ने अब तक ‘देसी ब्वॉयज’, ‘इनकार’ और ‘ये साली जिंदगी’ जैसी फिल्मों में काम किया हैं।

बुरे बर्ताव के बाद छोड़ दी थी फिल्म
चित्रांगदा ने फिल्म ‘बाबूमोशाय बंदूकबाज’ के निर्देशक पर आरोप लगाया था कि उन्होंने सेट पर बुरा बर्ताव किया। इस बात से अभिनेत्री आहत हो गईं और उन्होंने फिल्म छोड़ दी। चित्रांगदा ने कहा था कि उनसे निर्देशक ने अश्लील सीन करने को कहा था।