भाषा विवाद पर सोनू निगम का बड़ा बयान, कहा- ‘हिंदी नहीं राष्ट्रभाषा’


हिंदी राष्ट्रभाषा है या नहीं इसको लेकर हिंदी फिल्म इंडस्ट्री और साउथ इंडस्ट्री के बीच विवाद चल रहा है. इस विवाद में नया चेहरा सिंगर सोनू निगम भी शामिल हो गया है. भाषा विवाद को लेकर किच्चा सुदीप के बयान के समर्थन में सोनू निगम आए. गायक ने कहा, संविधान में कहीं भी यह नहीं लिखा है कि हिंदी भारत की राष्ट्रभाषा है.

हिंदी संविधान में कहीं भी नहीं लिखी गई है, यह राष्ट्रभाषा है


गायक ने इस मामले पर अपना स्पष्ट बयान देते हुए कहा, “मुझे नहीं लगता कि संविधान में कहीं भी यह लिखा है कि हिंदी हमारी राष्ट्रीय भाषा है. यह सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा हो सकती है. मैं ये समझता हूं लेकिन ये राष्ट्रभाषा नहीं है. उन्होंने आगे कहा, क्या हम सभी जानते हैं कि तमिल दुनिया की सबसे पुरानी भाषा है? इस मामले पर संस्कृत और तमिल के बीच बहस छिड़ गई है. लेकिन लोग कहते हैं कि तमिल पूरी दुनिया की सबसे पुरानी भाषा है.”

भाषा को लेकर विवाद पैदा करेगा तनाव

सिंगर सोनू निगम ने कहा, ‘हम यह सब क्यों कर रहे हैं? यह बहस भी क्यों हो रही है? अपने पड़ोसी देशों को देखो और आप अपने ही देश में विरोध पैदा कर रहे हैं कि आप हिंदी बोलते हैं. दूसरों को भी बोलना चाहिए. लेकिन उन्हें हिंदी क्यों बोलनी चाहिए? लोगों को जिस भाषा में चाहें बोलने दें. आप उन लोगों का पीछा क्यों कर रहे हैं जो केवल एक भाषा बोलते हैं.

निगम ने कहा कि अगर गैर-हिंदी भाषी अंग्रेजी बोलने में अधिक कुशल हैं, तो यह कोई मुद्दा नहीं होना चाहिए. पंजाब में रहने वाले लोग पंजाबी बोल सकते हैं. तमिल लोग आसानी से तमिल बोल सकते हैं. अगर आप अंग्रेजी में सहज हैं तो आप इसमें बात कर सकते हैं. यह कोई मुद्दा नहीं होना चाहिए.”