बुजुर्ग माँ के साथ बेटे- बहु ने किया ऐसा अत्याचार, सुनकर आपको भी आएगा रोना


समय के साथ सामाजिक काफी चीजों में भी बदलाव आया है और साथ ही 21वीं सदी में रिश्तों के मायने भी बदल चुके हैं। इन तमाम बदलावों के बावजूद मां और बच्चे के रिश्ते में किसी बदलाव की कल्पना नहीं की जा सकती है। लेकिन इन सबके बीच एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे जानकर आप भी हैरानी में आ जाएंगे। दरअसल ये पूरा मामला, गोपालगंज में एक बुजुर्ग मां अपने बेटे और बहू के घरेलू हिंसा से तंग आकर घर से निकल गई. दरअसल उस बुजुर्ग महिला का बेटा चाहता था कि उसकी मां घर में नौकरानी बन कर रहे।

घर का सारा काम बिना कुछ बोले करती रहे। लेकिन बूढ़ा शरीर होने की वजह से तकलीफे भी काफी रहती थी लगातार दर्द से तंग आकर एक दिन बुजुर्ग महिला घर से चली गई। वह पैसेंजर ट्रेन में सवार होकर और भटकती हुई पटना तक पहुंच गई। पटना में जब पुलिस ने बुजुर्ग महिला को लावारिस हालत में देखा और उससे पूछताछ की तब जाकर पूरा मामला सामने आया और इतना ही नहीं हैरानी की बात तो ये थी की जब पुलिस ने बुजुर्ग महिला के परिजनों से संपर्क किया और उन्हें घर ले जाने को कहा तो बेटे ने अपनी ही मां को घर लाने से साफ़ मना कर दिया.

महिला की पहचान गोपालगंज निवासी जलेबिया देवी के रूप में हुई है। महिला की उम्र 72 साल है जब इस बात की जानकारी जलेबिया देवी की बेटी और दामाद को हुई तो उन्होंने बिहार के मंत्री जनक राम से संपर्क किया और उन्हें पूरे घटना बताई। इसके बाद जनक राम ने पटना पुलिस से बात की और जलेबिया देवी को अपने घर ले आए। इस समय जलेबिया देवी के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. पूरी घटना के बारे में जानकर मंत्री जनक राम भी सदमे में हैं. साथ ही उनकी मां और पत्नी भी हैरान हैं कि कोई अपनी मां के साथ ऐसा व्यवहार कैसे कर सकता है. भावनात्मक रूप से टूट चुकीं जलेबिया देवी मानसिक और शारीरिक रूप से भी अस्वस्थ हैं।


जलेबिया देवी 3 बेटों की मां हैं। उनका भरा-पूरा परिवार है, लेकिन उनकी आंखों से लगातार टपक रहे आंसू उनकी कहानी को बयां कर रहे हैं. अपने बेटों की मार और गालिया से तंग आकर जलेबिया देवी ने घर छोड़ दिया। वह गोपालगंज से भटक कर पटना पहुंच गई थी। उनका कहना है कि उसके बेटे और बहू ने उसके साथ मारपीट की बेटे चाहते हैं कि उनकी माँ उन्हें खिलाने और बाकि सारे घर के काम करें। यानी उनके बेटे अपनी मां को अम्मा कम और नौकरानी के रूप में रखना चाहते थे। और अगर वो अपने बेटे और बहू की बात नहीं मानती थी तो उन्हें पूरा खाना नहीं दिया जाता था। पुत्रों के साथ-साथ बहू भी उसे प्रताड़ित करने से नहीं पीछे नहीं हटती थी। जलेबिया देवी बीमार हैं। उनके दोनों पैरों में सूजन है, लेकिन उनके बच्चों ने उनका इलाज तक नहीं करवाया था।