गाड़ी रोक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लगाया सड़क पर बैठे मोची को गले, दी इतनी मोती रकम


मध्य प्रदेश के सीहोर जिले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उसी अंदाज में दिखाई दिए, जिसके लिए वे जाने जाते हैं. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यहां फुटपाथ पर बैठकर जूते ठीक करने वाले मोची को न केवल गले लगाया, बल्कि उसे 25 हजार रुपये की आर्थिक सहायता भी भिजवाई. पहले तो शख्स को यकीन नहीं हुआ, लेकिन जब हाथों में चेक आया तो आंखें छलक गईं. कलेक्टर चंद्रमोहन सिंह ठाकुर के द्वारा जारी किया चेक बुधवार को मुख्य नगरपालिका अधिकारी विनोद प्रजापति ने मोची अरुण बडोले को सौंपा। 

ज्ञातव्य है कि 2 अप्रैल को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का गौरव दिवस के मौके पर नगर आगमन हुआ था। नगर के गौरव दिवस के मौके पर 2 अप्रैल को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान बस स्टैंड पहुंचे जहां पर जूते-चप्पल ठीक करने का काम करने वाले मोची अरुण बडोले के पास जाकर रुके थे और गले लगा कर उसकी आर्थिक स्थिति जानी थी। जिस पर मुख्यमंत्री ने बुधवार को शासन की ओर से 25000 की आर्थिक सहायता राशि का चेक और स्वनिधि स्ट्रीट वेंडर्स योजना के तहत 10000 की राशि का लाभ भी अरुण को दिया जाएगा।

अरुण ने बताया कि पहले तो उसे इस बात पर यकीन नहीं हुआ. लेकिन, जब नगर परिषद ने दोबारा बुलाया और कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उसे रोजगार में मदद के लिए यह राशि भेजी है, तो फिर उसे यकीन हो गया. अरुण के हाथों जब चेक आया, तो वे रो पड़े. उन्हें इसकी उम्मीद ही नहीं थी. उन्होंने सीएम चौहान को  धन्यवाद दिया और काम में जी-जान लगाने की बात कही.

मैंने कभी सपने में भी यह नहीं सोचा था कि मुझ गरीब की दुकान पर मुख्यमंत्री आकर मुझे गले लगाएंगे। अरुण ने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उसकी आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए मुख्यमंत्री के द्वारा जो सहायता राशि उपलब्ध कराई गई है उसका उपयोग अपने व्यापार को बढ़ाने में करेंगे।

भव्य स्वागत सत्कार के  बीच मुख्यमंत्री की निगाह मोची अरुण बडोले पर पड़ी थी जो मुख्यमंत्री को आशा भरी निगाहों से देख रहा था। अपनी और एक गरीब व्यक्ति को देख कर मुख्यमंत्री से रहा नहीं गया और वह व्यस्त कार्यक्रम के बीच गाड़ी से उतरे तथा मोची अरुण बडोले की दुकान पर जा पहुंचे। मुख्यमंत्री ने उसे गले लगाया और उसकी परिवार की आर्थिक स्थिति जानी।