नहीं रहे दिग्गज स्पिनर Shane Warne, 52 साल की उम्र में दुनिया को कहा अलविदा


हाल ही में एक खबर ने सभी को हिला कर रख दिया है दरअसल खबर क्रिकेट जगत से सामने आ रही है जहाँ ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज स्पिन गेंदबाज शेन वॉर्न का 52 साल की उम्र में निधन हो गया है. उनके अचानक दुनिया से चले जाने से क्रिकेट जगत में हड़कंप मच गया है. वॉर्न का निधन हार्ट अटैक आने से हुआ. शेन वॉर्न की अचानक मौत हार्ट अटैक की वजह से हुई है. वॉर्न 52 साल के थे. वॉर्न का मृत शरीर उनके विला में पाया गया था. डॉक्टर्स ने उन्हें बचाने की लाख कोशिश की थी, लेकिन वो उन्हें बचा नहीं पाए.

शेन वॉर्न ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 300 से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले हैं और उन्हें दुनिया का महानतम लेग स्पिनर कहा जाता है. उनकी गेंदबाजी के आगे दिग्गज बल्लेबाज भी पानी भरते थे. हालांकि, ये बात अलग है कि सचिन तेंदुलकर के आगे वो ज्यादा असरदार नहीं रहे. टेस्ट क्रिकेट में उनके नाम 708 विकेट हैं. वहीं वनडे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उन्होंने 293 विकेट लिए हैं. इसके अलावा वो IPL सीजन वन का खिताब जीतने वाले कप्तान रहे हैं. उन्होंने राजस्थान रॉयल्स को आईपीएल की पहली ट्रॉफी दिलाई थी.

शेन वार्न के नाम पर इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) खिताब जीतने वाला पहले कप्तान होने का रिकॉर्ड भी दर्ज है. आईपीएल-2008 में ज्यादातर अंजान चेहरों से घिरी राजस्थान रॉयल्स टीम को किसी ने खिताब जीतने लायक नहीं माना. ऐसे में टीम के चैंपियन बनने के लिए वार्न की रणनीतियों को ही जिम्मेदार माना जाता है.

दरअसल आपको बता दे की शेन वार्न को साल 2000 में 20वीं सदी के सबसे महान 5 क्रिकेटर्स में से एक गिना गया, लेकिन उनका विवादों से भी बेहद करीबी नाता रहा. विशेषज्ञ तो यह भी कहते हैं कि वे ऐसे क्रिकेटर थे, जिन्हें ऑस्ट्रेलियाई टीम का कप्तान जरूर बनना चाहिए था, लेकिन इस संभावना पर वे हमेशा खुद ही लात मारते रहे. सट्टेबाजों को पिच और मौसम की जानकारी देना हो या 2003 वर्ल्ड कप के लिए दक्षिण अफ्रीका पहुंचने के बाद ड्रग्स लेने के आरोप में प्रतिबंधित हो जाना.