सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करने वाले ने पास की NDA की परीक्षा,अब करेंगे देश की सेवा


कहते हैं अगर सच्ची लगन हो मन में विश्वास हो निरंतर प्रयत्न करते रहे तो अवश्य ही सफलता प्राप्त होती है हमें कभी भी हिम्मत नहीं तोड़नी चाहिए और अपने लक्ष्य को लेकर निरंतर प्रयत्न करते रहना चाहिए ऐसा ही एक जीता जागता उदाहरण आज हमारे सामने हैं जहां एक प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करने वाले एनडीए परीक्षा पास की और अब वह सेना में लेफ्टिनेंट बनेंगे

नरेंद्र लेफ्टिनेंट बनकर करेंगे देश की सेवा

राजस्थान के अलवर जिले के गांव पहाड़ी से निकले नरेंद्र ने साबित कर दिया कि मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती नरेंद्र ने एक गरीब परिवार में जन्म लिया आर्थिक तंगी के कारण उन्हें सिक्युरिटी गार्ड की नौकरी करनी पड़ी मगर उन्होंने हार नहीं मानी और अपनी पढ़ाई जारी रखी उनकी मेहनत का ही नतीजा है कि वो एनडीए की परीक्षा में 267वीं रैंक हासिल करने में सफल रहे अब वो इंडियन आर्मी में लेफ्टिनेंट बनकर देश की सेवा करेंगे

परिवार ने दिया हर घड़ी में साथ

नरेंद्र के पिता रोहताश के किसान हैं उनके पास सिर्फ दो बीघा जमीन है वहीं उनकी मां धौली देवी घर की जिम्मेदारी संभालती हैं जैसे-तैसे माता-पिता ने नरेंद्र को स्कूल भेजा और अलवर के यूनिक स्कूल से 2019 में दसवीं की परीक्षा पास कराई जानकारी के मुताबिक नरेंद्र के लिए आगे की पढ़ाई मुश्किल थी मगर उनके गुरू सुमित यादव ने उन्हें आगे बढने  के लिए प्रेरित किया और हर संभव मदद की

नरेंद्र की मेहनत लाई रंग

इस तरह से नरेंद्र ने अपनी पढ़ाई जारी रखी और बाद में दिल्ली से सटे हरियाणा के सोनीपत के गोहाना आकर एक कंपनी में सिक्युरिटी गार्ड बन गए ताकि अपने सपने को पूरा कर सकें अंतत: नरेंद्र की मेहनत रंग लाई और वो एनडीए की परीक्षा पास करने में सफल रहे नरेंद्र उन लोगों के लिए मिसाल हैं जो गरीबी के आगे घुटने टेंक देते हैं और हमेशा अपनी किस्मत को दोष देते रहते है