पेट्रोल कर्मचारी का कारनामा: 35 लीटर की टंकी में डाल दिया 43 लीटर पेट्रोल, मच गया हंगामा


35 लीटर की टंकी में 43 लीटर पेट्रोल… चौंकिए मत राजस्थान के हनुमानगढ़ में एक पेट्रोल पंप पर ऐसा ही ‘कमाल’ हुआ है. जहां एक ओर पेट्रोल और डीजल की महंगाई ने आमजन की कमर तोड़ कर रखी है, तो वही पेट्रोल पंपों पर कम पेट्रोल डालने के मामले सामने आ रहे हैं. एक ऐसा मामला हनुमानगढ़ में सामने आया है.

हनुमानगढ़ टाउन के चिमनलाल पेट्रोल पंप पर रात में एक ग्राहक ने अपनी कार में तेल डलवाया. उसने कार की टंकी फुल करने को कहा था, लेकिन ग्राहक को अंदेशा हुआ कि तेल कम डाला गया है. ग्राहक का कहना है कि उसकी कार में 5 लीटर तेल पहले से ही था और बाद में उसने 43 लीटर तेल डालने की बात कही जबकि इतनी बड़ी तेल टंकी नहीं है.

जब कार चालक ने हंगामा किया तो वहां भीड़ इकट्ठा हो गई. इतना ही नहीं वहां पुलिस को भी बुलाया गया और गाड़ी में तेल चेक करवाया गया तो तेल कम निकला, जिससे तेल डलवाने वाले ग्राहक और आक्रोशित हो गए और वहां जमकर हंगामा किया. ग्राहक ने कहा कि पेट्रोल पंप संचालक पर 51 हजार रुपये की पेनल्टी लगाई जाए और पैसे को गुरुद्वारे में दिया जाए.

पहले तो पेट्रोल पंप संचालक मान गए. इतना ही नहीं हाथ जोड़कर माफी भी मांगी, लेकिन बाद में वह समझौते से मुकर गए और कहा कि वे इतनी बड़ी राशि दान नहीं दे सकते. वे तो 21 हजार की ही रसीद कटवाएंगे, जिस पर हंगामा और बढ़ गया. इस हंगामे के बीच स्थानीय पार्षद अर्चित अग्रवाल भी पहुंचे.

पेट्रोल पंप संचालक का पक्ष ले लोगों के खिलाफ भी जमकर हंगामा किया गया. मौके पर पहुंचे टाउन थाना अधिकारी ने काफी समझाइश की, जिसके बाद मामला शांत करवाया गया लेकिन गौर करने वाली बात यह है कि जिस तरह से आए दिन पेट्रोल पंप संचालक तेल डालने में गड़बड़ी कर रहे हैं, इससे साफ है कि जनता पर दोहरी मार पड़ रही है.