ऐसी लगी पब्जी की लत, गेम खेल-खेल कर बच्चे ने खाली कर दी घर की तिजोरी, फिर किया ये कांड…


आजकल के दौर में बच्चे मोबाइल फ़ोन के दीवाने बन गए है जहाँ पहले बच्चे पैदा होने के बाद बोलना चलना सीखते थे वहीँ वर्तमान में बच्चे इन सबसे कई पहले फ़ोन चलाना सीख रहे है। फ़ोन की लत आजकल के युवा का भविष्य खराब कर रही है। एक ऐसा ही मामला सामने आया जहाँ एक बच्चे ने फ़ोन में PUBG खेल के चक्कर में अपने घर से ही चोरी कर लिया पैसे। खुद जान लिए की आज मोबाइल गेमिंग के चक्कर में बच्चे किस हद तक जाने के लिए मजबूर हो गए है की उन्हें अपने घर में चोरी करनी पड़ रहे है। आइये जानिए पूरा मामला।

 

दरअसल ये मामला राजस्थान का है जहाँ झालावाड़ शहर के गागरोन रोड का रहने वाला एक नाबालिग लड़का PUBG खेलने की लत में इतना डूब गया कि उसने अपने घर की तिजोरी ही खाली कर दी. नाबालिग ने PUBG खेल-खेल कर 3 लाख रुपये उड़ा दिए. उसके परिजनों का कहना है कि उनके बेटे की इस लत का फायदा पड़ोस में ई-मित्र की दुकान चलाने वाले युवक ने उठाया है.ई-मित्र चलाने वाला युवक नाबालिग को घर से पैसे लाने को मजबूर करता था और खुद के रेफरल कोड से इक्विपमेंट्स खरीदवा रहा था. पैसे नहीं लाने पर अगले दिन दोगुने पैसे लाने की धमकी देता था. जैसे ही परिजनों को इसके बारे में पता चला उन्होंने इसकी कम्प्लेन पुलिस में की।

रिपोर्ट्स के मुताबिक बता दे नाबालिग के मामा ने बताया कि उसके भांजे को पड़ोस में ई-मित्र की दुकान चलाने वाले शाहबाज खान ने 21 जून को अपने पास बुलाया और अपने झांसे में लेकर PUBG में इक्विपमेंट्स खरीदने की बात कही. साथ ही नाबालिग से उसके पिता के आधार कार्ड, पैन कार्ड, मोबाइल और बैंक अकाउंट की जानकारी भी मंगवा ली.जिसके बाद अब मामला की तफ़रिश शुरू कर दी गयी है। आरोपी ने नाबालिग के पिता के अकाउंट से पेटीएम पर नया अकाउंट खोल कर उसमें नया मोबाइल नंबर लिंक कर दिया. आरोपी ने पहली बार नाबालिग से 500 रुपये का ट्रांजैक्शन करवाया. उसके बाद आरोपी नाबालिग को झांसे में लेकर लगातार PUBG पर गन, कपड़े और अन्य इक्विपमेंटस खरीदने के नाम पर पैसे मंगवाता रहा.

इतना ही नहीं जानकारी के मुताबिक उसने कई बच्चो का अपना शिकार बनाया है अगर वह घर से पैसे नहीं लाते थे तो उन्हें भी आरोपी धमकी देता था। ऐसे में बीते छह महीनों में आरोपी ने नाबालिग से करीब 3 लाख रुपये मंगवा लिए. बाद में जब नाबालिग उदास और चिड़चिड़ा रहने लगा तो परिजनों ने बड़ी मशक्कत से उससे पूछताछ की, जिसमें सामने आया कि यह काफी दिनों से घर में ही चोरी करके पैसे ई-मित्र वाले को दे रहा है.पुलिस अब मामले के तेह तक जाकर छानबीन कर रही है।