जेल में बैठे Kundra को लेकर Mika Singh ने दिया चौका देने वाला बयान, कहा -मैंने ऐप देखी है बहुत मस्त है…


बॉलीवुड एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी के पति और बिजनेसमैन राज कुंद्रा के लिए बीता दिन बहुत मुश्किलों भरा रहा। राज पॉ-र्न फिल्‍म मामले में इस वक्त हिरासत में हैं। राज को 23 जुलाई तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। सोमवार देर रात राज कुंद्रा की गिरफ्तारी हुई थी। राज का नाम इस मामले में सामने आने से बॉलीवुड के कई सेलिब्रिटीज में भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। वहीं अब बॉलीवुड सिंगर मीका सिंह ने भी राज को लेकर अपनी तरफ से प्रतिक्रिया दी है।

दरअसल, मुंबई में पैपराजी से बात करते हुए मीका ने कहा –मैं भी इंतजार कर रहा हूं कि क्या होगा। देखते हैं। जो भी होगा अच्छा होगा, मुझे इतना नॉलेज नहीं है उनके ऐप के बारे में। मैंने एक ऐप देखी थी, वो सिंपल ऐप थी। उसमें ज्यादा कुछ नहीं था उसके अंदर तो अच्छे की उम्मीद करें। मेरी समझ से राज कुंद्रा अच्छे इंसान हैं। अब देखते हैं क्या सच है और क्या झूठ है जो कोर्ट ही बता सकता है। इस दौरान मिका ने राज को एक अच्छा इंसान बताया।

बता दें कि मीका से पहले राखी सावंत भी इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया दे चुकी हैं। राखी सावंत ने मामले को लेकर राज का समर्थन करते हुए कहा, ‘दोस्तों आपको ऐसा नहीं लगता है कि शिल्पा शेट्टी ने बॉलीवुड में कितना नाम कमाया है। ऐसे में उनको कोई बदनाम करने की कोशिश कर रहा है। उनका नाम खराब करने की कोशिश कर रहा है। मैं मान ही नहीं सकती कि राज कुंद्रा ने ऐसा कुछ किया है। वो एक बिजनेसमैंन है। उनको कोई ब्लैकमेल करने की कोशिश कर रहा है।

शिल्पा शेट्टी ने कितना मेहनत किया है इंडस्ट्री में। उनका एक बेटा है एक बेटी है…अरे शर्म करो। उनका एक हस्ता खेलता परिवार है।‘ गौरतलब है कि एक तरफ जहां मीका और राखी ने राज का समर्थन किया है वहीं कंगना, पूनम पांडेय, शर्लिन चोपड़ा जैसे सेलेब्स ने उनके खिलाफ बातें की हैं। राज का नाम जिस मामले में सामने आया है उस बारे में मुंबई पुलिस ने बताया कि इस साल फरवरी में मुंबई क्राइम ब्रांच में पोर्नोग्राफिक फिल्में बनाए जाने का केस दर्ज करवाया गया था।

शिकायत में कहा गया कि ये फिल्में बनाकर कुछ ऐप्स के जरिए पब्लिश की जाती हैं। इसी मामले में जब जांच की गई तो राज का नाम सामने आया। राज के खिलाफ भारतीय दं-ड संहिता यानि आईपीसी की धारा 292, 293, 420, 34 और सूचना प्रौघोगिकी अधिनियम यानि आईटी एक्ट की धारा 67 और 67ए समेत कई अन्य संगीन धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।