माइक्रोसॉफ्ट के CEO सत्या नडेला के बेटे का निधन, इस गंभीर बीमारी से थे पीड़ित।


हाल ही में माइक्रोसॉफ्ट कॉर्प के सीईओ सत्या नडेला के बेटे जैन नडेला की सोमवार को मौ*त हो गई. जैन नडेला सेरेब्रल पाल्सी बीमारी से ग्रसित थे और उनकी उम्र महज 26 साल थी. माइक्रोसॉफ्ट ने अपने एक्सीक्यूटिव स्टाफ को एक ईमेल में इसकी जानकारी दी.ये बेहद दुखद न्यूज़ है सत्या नडेला 2014 से माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ हैं. वह कई मौकों पर बताते रहे हैं कि उनके करियर में बेटे जैन का बहुत योगदान है. एक बार उन्होंने कहा था, ‘जैन के पैदा होने के बाद मेरे लिए चीजें बदलने लगीं. उसके जन्म ने हर चीज पर असर किया. मैं कैसे सोचता हूं, कैसे लीड करता हूं और किस तरह लोगों से रिलेट करता हूं…ये सब जैन के आने से बदल गया.’

सत्या नडेला की पत्नी अनु नडेला ने एक बार कहा था कि उनके बेटे जैन को बचाने में टेक्नोलॉजी का अहम योगदान रहा. इस कारण उनके परिवार में टेक्नोलॉजी को काफी वैल्यू दी जाती है. उन्होंने कहा था कि उनके घर में बेटे जैन, दोनों बेटियों और सत्या नडेला हमेशा ही आपस में टेक्नोलॉजी पर बातचीत किया करते थे.जैन का इलाज बेहद लम्बे समय से चल रहा था बड़ी कोशिश के बाद भी उन्हें न बचाया जा स्का।

जैन का इलाज चिल्ड्रेन्स हॉस्पिटल में चल रहा था. जैन की मौत के बाद हॉस्पिटल के सीईओ जेफ स्पेरिंग ने बोर्ड से एक मैसेज में कहा, ‘जैन को म्यूजिक की पसंद के लिए याद किया जाएगा. उनकी शानदार मुस्कान से हर उस इंसान को खुशी मिलती थी, जो उनसे प्यार करते थे.जैन के चेहरे पर मुस्कान हमेशा से ही एक जुटता का प्रतिक लगती थी। जैन को हमेशा हम अपनी यादो में रखेंगे ये उनके साथ रहने वाले लोगो ने जैन के लिए कहा।

कंपनी ने स्टाफ को भेजे ईमेल में कहा कि सभी शोक संतप्त परिजनों के लिए प्रार्थना करें और उन्हें इससे बाहर आने की प्राइवेसी व स्पेस दें। अपने बेटे के जाने से इस समय नडेला बेहद दुखी है लेकिन वह एक समय के बाद वह इससे बाहर आकर फिर से काम पर लौटेंगे फ़िलहाल वह अपने परिवार के साथ है।