20 साल की लड़की दिखाकर 45 साल औरत से करा रहे थे शादी, मंडप से भागा दूल्हा


यूपी के इटावा में एक दूल्हे के साथ जबरदस्ती एक 45 वर्षीय महिला के साथ शादी करवाने की कोशिश की गई. शादी से पहले तस्वीर 20 वर्षीय लड़की की दिखाई गई. लड़के ने जब शादी के लिए हां बोल दिया गया, तब धोखा देते हुए एक दो बच्चों की मां को मंडप में बैठा दिया गया. इस धोखाधड़ी के सामने आते ही दूल्हा सीधे पुलिस स्टेशन पहुंचा और ठगों के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई.

जानकारी मिली है कि शत्रुघ्न सिंह नाम के युवक संग इस धोखाधड़ी को अंजाम दिया गया है. दला-लों द्वारा पहले उसे एक 20 वर्षीय लड़की की तस्वीर दिखाई गई और उसी के दम पर 35 हजार रुपये भी एडवांस में ले लिए गए. लेकिन फिर शादी वाले दिन युवक जब मंदिर पहुंचा तो उसे पता चला कि उसकी शादी एक 45 वर्षीय महिला से की जा रही है. वो महिला दो बच्चों की मां बताई गई है. अपने साथ ऐसा धोखा देख शत्रुघ्न नाराज हो गया और उसने शादी करने से इनकार कर दिया.

वो अपनी मां के साथ पुलिस स्टेशन जाने की बात कहने लगा. लेकिन स्थिति को बेकाबू होता दिख वहां खड़े दलालों ने शत्रुघ्न और उसके परिवार को डराना शुरू कर दिया. वो डंडा लेकर उनके पीछे भागने लगे. लेकिन किसी तरह शत्रुघ्न जान बचाकर पुलिस स्टेशन पहुंचा और उसने अपने साथ हुए धोखे के बारे में विस्तार से बताया. शत्रुघ्न ने बताया कि गांव के दो दलालों ने मेरे 35 हजार रुपए ठग लिए और शादी करने के लिए मुझे नीलकंठ मंदिर पर एक लड़की दिखा दी, जिसकी उम्र 20 वर्ष थी.

मैंने उस लड़की के हाथ में एक हजार रुपए नगद और एक मिठाई का डिब्बा शगुन के तौर पर दिए थे. उसके साथ उसकी मौसी आई थीं. शादी पक्की हो गई थी. बातचीत भी कर ली गई थी. फिर काली वाहन मंदिर पर शादी के लिए बुलाया गया था. जैसे ही भांवरें पड़ने वाली रस्म होनी थी, मेरी मां ने देखा कि वो लड़की नहीं थी, बल्कि 45 वर्षीय औरत थी, उस महिला के आगे मैं उसका बच्चा लग रहा था.

दूल्हे की मां इंदिरा देवी ने कहा कि ठगों ने जबरदस्ती मेरे बेटे की शादी एक उम्र दराज दो बच्चों की मां से करने की कोशिश की थी. जब हमने मना कर दिया तो ये ठग लाठी-डंडों से हमें जान से मारने की धमकी देने लगे और हमला करने लगे. अब इस पूरे मामले को देखते हुए इटावा के एसपी सिटी कपिल देव सिंह ने स्पष्ट कर दिया है कि वैधानिक कार्रवाई की जाएगी.