गरीबी में पली-बढ़ी मजदूर पिता की बेटी ने किया बोर्ड परीक्षा में टॉप


कल मध्यप्रदेश के बोर्ड की परीक्षा के result आ गए है , वहां की 10 वी बोर्ड की परीक्षा में छतरपुर के नारायणपुरा गांव की रहने वाली नैंसी दुबे ने टॉप किया है | नैंसी ने अपने गांव के साथ-साथ पुरे मध्यप्रदेश का नाम रोशन किया है , उसकी इस सफलता से उसकी माता-पिता बहुत खुश है | उसके पिता मज़दूरी का काम करते है | एक मध्यम वर्गीय परिवार में रहने के बावजूद नैंसी ने प्रदेश में प्रथम स्थान पा कर अपने परिवार को काफी गर्व महसूस करवाया है |

नैंसी के पिता है मज़दूर 

नैंसी के 500 में से कुल 496 अंक आये है | उसके टॉपर बनने के बाद से उसके घर में किसी की भी खुशी का ठिकाना नहीं है | नैंसी ने पिता शहर जा कर एक किराना दुकान में मज़दूरी करते थे पर कोरोना महामारी के दौरान जब lockdown लगा तो उनकी नौकरी चली गई जिसके बाद वो गांव में रह कर ही मज़दूरी करने लगे | नैंसी के अलावा उनकी तीन बेटियां और एक बेटा भी है |

बिना कोचिंग के करी पढ़ाई 

नैंसी ने बताया की उसने कभी भी पढ़ने के लिए कोई कोचिंग नहीं ली | वो स्कूल जाकर पढ़ती थी और यूट्यूब के माध्यम से भी पढ़ाई करती थी | उसका स्कूल भी लगभग 6 किलोमीटर दूर था और वो रोज़ साइकिल चला कर स्कूल जाती थी | उसने अपनी सफलता का श्रेय अपने परिवार वालों और अपने शिक्षकों को दिया है |

बड़े हो कर बनना चाहती है डॉक्टर 

नैंसी की इस सफलता के बाद सब उस पर नाज़ कर रहे है , उसने ये भी कहा की वो आगे और पढ़ लिख कर डॉक्टर बनना चाहती है और अपने माता-पिता के साथ-साथ पुरे गांव का नाम रोशन करना चाहती है | नैंसी ने साबित कर दिखाया है की आपकी स्तिथि चाहे जैसी भी हो पर आपको पूरी लगन के साथ मेहनत करनी चाहिए |