दरोगा के बेटे ने खरीदा हेलीकॉप्टर, गांव में पहले हेलीपैड बनाया फिर उतारा विमान, देखने उमड़ी गांव वालो की भीड़।


आज के समय में अब भारत पहले से कई गुना सशक्त और बलवान बन चूका है पहले से तुलना में लोग कड़ी मेहनत व् आगे बढ़ने की होड़ में है। दरअसल जहाँ पहले उत्तरप्रदेश का बाराबंकी जिला पिछड़े इलाको में आता था वही अब इस जिले में तेजी से तर्रक्की होती नजर आरही है। जहाँ पहले साइकिल भी मुश्किल से देखने को मिलती थी वही लोग अब यहाँ महंगी गाड़ियां व् बाइक्स खरीदते नजर आ रहे है। दरअसल अब एक ऐसी बात बताने जा रहे है जिसे जानने के बाद आपकी ख़ुशी के ठिकाना नहीं रहेगा यहाँ एक दरोगा के बेटे ने हेलीकाप्टर ख़रीदा है जो सपना वह कई सालो से देख रहा था आज उसने इसे पूरा कर लिया है। आइए बताते है उसकी सक्सेस स्टोरी।

दरअसल मिली जानकारी के अनुसार लखनऊ में मूल रूप से बस्ती जिले के हरैया के निवासी चंदन सिंह वर्तमान समय में चिनहट में रहते हैं और जिले में भी रियल एस्टेट का कारोबार करते हैं। उनके पिता शत्रोहन सिंह लखनऊ में पुलिस विभाग में दारोगा हैं। वहां उनकी न्यायालय में ड्यूटी लगी है। चंदन का कहना है कि उनका सपना था कि उनके पास भी कभी अपना हेलीकाप्टर हो। दो दिन पहले उन्होंने समस्त प्रक्रिया पूर्ण कर इसकी खरीदारी की है।और वह अपने इस सपने को पूरा कर के बेहद खुश है।

हेलीकाप्टर को असेनी के पास अपने रियल एस्टेट की जमीन पर बनाए गए हेलीपैड पर उतारा। फोटो इंटरनेट मीडिया पर शेयर होने के बाद उन्हें बधाई देने वालों का सिलसिला शुरू हो गया। वह इसे मीडिया की सुर्खियां बनने से रोकना चाहते हैं। चंदन का कहना है कि हेलीकाप्टर को वह बिजनेस के सिलसिले से लाए हैं। उन्होंने समस्त प्रक्रिया पूरी की है। दूसरी ओर अभी इसे लीज पर लेने की बात कह रहे हैं।जैसे ही चन्दन के पिता को इसकी जानकारी मिली वह बेहद खुश हो गए है।

जैसे ही गांव वालो को इसकी जानकारी मिली वह  हेलीकाप्टर देखने के लिए जमा हो रहे है क्यूंकि इससे पहले शहरः में ऐसा कुछ नहीं हुआ, शहर के मुहल्ला सत्यप्रेमीनगर निवासी डा. बृजेश सिंह कहते हैं कि जिले के युवक ने हेलीकाप्टर खरीदा, यह खुशी की बात है। शत्रोहन सिंह कहते हैं कि मंगलवार सुबह पायलट के आने पर उन्होंने पुत्र के हेलीकाप्टर में बैठकर उड़ान भरी थी।और वह पुत्र की कामयाबी से बेहद खुश है।