अगर आपको भी है होंठ काटने की बुरी आदत तो आज ही छोड़िये, बन सकता है जानलेवा


अक्सर आपने देखा होगा कि कुछ लोगों को हर वक्त होंठ चबाने की आदत होती है. कुछ मामलों में ये महज एक आदत हो सकती है, लेकिन कई बार ये आदत गंभीर बीमारी की तरफ इशारा करती है. मुंह से जुड़ी बीमारियों के एक्सपर्ट्स ने ऐसी कई दिक्कतों को लेकर चेतावनी दी है जिनकी जानकारी शायद आपको नहीं है. अमेरिकी ब्रांड Colgate पर एक्सपर्ट्स ने बताया कि आखिर क्यों लोग होंठ चबाने की लत के शिकार होते हैं और इसका क्या मतलब होता है. मूल रूप से इसके पीछे पांच मुख्य समस्याएं हो सकती हैं.

आर्थराइटिस- यह टेम्पोरोमैंडिबुलर ज्वॉइंग (TMJ) डिसॉर्डर का एक सामान्य कारण है, जो अक्सर एक लक्षण के रूप में देखा जाता है. इसके लक्षण हल्के या गंभीर होते हैं और समय के साथ-साथ घा-तक भी हो सकते हैं जो रूमेटॉयड आर्थराइटिस की वजह से होता है. आर्थराइटिस के प्रकार के आधार पर आपके जबड़े के आकार में बदलाव, सूजन और या मुंह खुलने से जुड़ी समस्या हो सकती है. एक्सपर्ट्स कहते हैं कि अगर होंठ का-टने के साथ-साथ आप जबड़े में दर्द, सिरदर्द या दांत में दर्द महसूस कर रहे हैं तो ये जबड़े में आर्थराइटिस का वॉर्निंग साइन हो सकता है.

दांत पीसना- दांत पीसने से भी TMJ की दिक्कत बढ़ सकती है और यह होंठ चबाने का एक संकेत हो सकता है. दांत पीसने की दिक्कत कई कारणों से जुड़ी हो सकती है. ऐसा स्ट्रेस की वजह से भी हो सकता है. यह अक्सर रात में सोते समय या जब आप अनजाने में अपने दातों को भीचते हैं, तब होता है. लेकिन जब कोई होंठ काटने के साथ फेशियल पेन या सिरदर्द महसूस करता है तब भी दांत पीसने की दिक्कत बढ़ती है. आड़े-टेढ़े दांत- जब किसी इंसान के जबड़ों में दांतों की लाइन सीधी ना हो तो उसकी होंठ का-टने की आदत बढ़ सकती है. ऐसा तब होता है जब जबड़े के ऊपर और नीचे के दांत एक आकार के नहीं होते हैं या उनका आकार असामान्य होता है.

अमूमन यह कोई बड़ी समस्या नहीं है, लेकिन जब आपको दर्द या होंठ काट-ने की समस्या हो या चबाने में मुश्किल होने लगे तो इसका जरूर इलाज कराना चाहिए. एन्जाइटी या डिप्रेशन- मानसिक दिक्कतों के चलते भी अक्सर लोग होंठ काटने की बुरी लत के शिकार हो जाते हैं. बॉडी के रिपीटेटिव बिहेवियर मानसिक तनाव का हिस्सा हो सकते हैं जिसमें होंठ का-टना भी शामिल है. कब इलाज के लिए जाएं- एक्सपर्ट्स का कहना है कि आमतौर पर होंठ चबाना किसी बड़ी दिक्कत का संकेत नहीं होता है. फिर भी होंठों को बार-बार का-टना एक खराब आदत हो सकती है और इससे त्वचा के छिलने और जलने की परेशानी बढ़ सकती है.

एक्सपर्ट्स ने कहा कि अगर आप या आप बच्चा होंठ का-टने की खराब लत का शिकार है तो आपको तुरंत दांतों के डॉक्टर या हेल्थकेयर प्रोवाइडर से मिलने की जरूरत है. वे न सिर्फ इसकी गंभीरता और कारणों को समझने में आपकी मदद कर सकते हैं, बल्कि बेहतर इलाज की सलाह भी दे सकते हैं. अगर दांत के डॉक्टर आपको TMJ डिसॉर्डर की समस्या से ग्रस्त पाते हैं तो वह आपको जबड़े की मांसपेशियों की मसाज या डाइट की लिमिट से लेकर सॉफ्ट फूड खाने जैसे घरेलू उपचार आजमाने की सलाह दे सकते हैं. इसके अलावा वह आपको दर्द या सूजन में राहत के लिए कुछ दवाएं भी दे सकते हैं.