अब रात 10 बजे के बाद ट्रैन में टिकट चेक नहीं कर सकता TTE , जानें क्या है रेलवे का ये नया नियम


भारत देश जितना बड़ा है उतना बड़ा ही उसका रेलवे नेटवर्क है। जानकारी के लिए बता दे भारत के रेलवे नेटवर्क की गिनती दुनिया की चौथी सबसे विशाल रेल नेटवर्क में की जाती है। यात्रियों की सहूलियत के लिए भारतीय रेलवे ने कई नियम बना रखे हैं, ताकि सफर के दौरान उन्हें किसी भी प्रकार की समस्याओं का सामना न करना पड़े। अक्सर रेलवे अपने नए नियम और नियमो में बदलाव लेकर आता रहता है। लेकिन आज हम आपको ऐसे ही कुछ नियम बताने जा रहे है जिनसे शायद आम जनता वाकिफ न हो आइये जानिए उन नियम के बारे में।

वैसे तो भारत रेलवे के कई नियम है जिन्हे जानना और समझना हर यात्री के लिए बेहद जरूरी है। ठीक वैसे ही भारतीय रेलवे में ये साफ़-साफ़ उल्लेखनीय है कि रात 10 बजे के बाद टिकट एग्जामिनर यात्रियों के ट्रेन टिकट को वेरिफाई नहीं कर सकता है। आपने कई बार ऐसा देखा होगा की अक्सर यात्री के सफर के दौरान अक्सर टिकट एग्जामिनर यात्रियों को जगाकर उनका ट्रेन टिकट चेक करते हैं। इस कारण यात्रियों को नींद से उठकर अपना ट्रेन टिकट और पहचान पत्र टीटीई को दिखाना पड़ता है। इस कारण सफर कर रहे यात्रियों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

इसलिए अपने यात्रियों को परेशानियों का सामना देखते हुए भारतीय रेलवे ने ये सख्त नियम बनाये है और नियम में इस बात का साफ़ स्पष्ट उल्लेख है कि टीटीई रात 10 बजे से सुबह 6 बजे के बीच यात्रियों के टिकट को चेक नहीं कर सकता है। टीटीई सुबह 6 से रात 10 बजे के बीच ही यात्रियों के ट्रेन टिकट को चेक कर सकता है। वहीं अगर कोई यात्री रात 10 बजे के बाद ट्रेन में सफर करता है, तो टीटीई उसके टिकट और आईडी का वेरिफिकेशन कर सकता है।

सफर के दौरान यात्रियों की सहूलियत को देखते हुए इस नियम को बनाया गया है।ताकि किसी भी यात्री को परेशानी का सामना न करना पड़े। बता दे इस नियम को सभी टीटी को मानना जरूरी है वरना रेलवे उनके खिलाफ सख्त कदम भी उठा सकती है। बता दे देश में लाखो यात्री रोजाना ट्रैन से सफर करते है। जिनकी सेफ्टी रेलवे के हाथ होती है इसलिए रेलवे को ऐसे सख्त कदम उठाने की जरूरत पड़ती है।