हनुमान चालीसा पढ़ अपना गम भूला रही है IAS टीना डाबी, तलाक की अर्जी के बाद लिखा पहला पोस्ट


सिविल सर्विस परीक्षा की टॉपर रही टीना डाबी की शादी की तरह तलाक भी खूब चर्चा में बना हुआ है। अपने बैच के IAS अतहर आमिर से शादी के दो साल बाद अलग होने जा रही टीना डाबी ने इस मामले में पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी है।

उन्होंने सोशल मीडया में एक पोस्ट जारी कर बताया कि वह किस तरह अपने जीवन में पॉजिटिव रहने की कोशिश कर रही हैं।टीना डाबी ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में हाल में पढ़ी गई किताबों का जिक्र किया है। उन्हाेंने लिखा कि काफी समय बाद मेरा पोस्ट है। मैंने पिछले कुछ महीनों में बहुत सारी किताबें पढ़ी हैं।

उन्होंने बताया कि जब उन्हे दुनिया में नेगेटिविटी का अनुभव होता है, तब मैं हनुमान चालीसा पढ़ती हैं। इस पोस्ट में टीना ने देवदत्त पटनायक लिखित किताब ‘मेरी हनुमान चालीसा’ भी शेयर की है। अपने पोस्ट में टीना ने’ए जेंटलमैन इन मॉस्को बुक’ का जिक्र करते हुए कहा कि इस किताब ने मुझे अंदर तक झकझोर कर रख दिया।

उन्होंने बताया कि इन किताब को पढ़ने के बाद मैंने अपने विचारों के साथ किताब के सबसे अच्छे अंशों को एक पन्ने पर लिखा है। उम्मीद करती हूं आप सब इसे पढ़ने में उतना ही आनंद लेंगे, जितना मैंने लिया। टीना डाबी ने पुस्तकों को लेकर लोगों से रिव्यू और सजेशन भी मांगे हैं।

बता दें कि IAS टॉपर टीना डाबी और उनके पति अतहर आमिर ने जयपुर के फैमिली कोर्ट-1 में म्यूचअल तौर पर तलाक की अर्जी दायर कर दी है। अर्ज़ी में कहा गया कि हम आगे साथ नहीं रह सकते। ऐसे में कोर्ट हमारी शादी को शून्य घोषित करें। दोनों 2016 बैच के आईएएस अधिकारी हैं।

वर्तमान में टीना -संयुक्त शासन सचिव वित्त ( कर) विभाग जयपुर में संयुक्त सचिव और आमिर सीईओ ईजीएस के पद पर कार्यरत हैं। 2018 में दोनों की शादी काफी चर्चित रही थी। टीना और अतहर दोनों राजस्थान कैडर के अधिकारी हैं. कहा जाता है कि दोनों की नजदीकियां ट्रेनिंग के दौरान बढ़ी थी।

टीना ने अपनी शादी की जानकारी सोशल मीडिया पर दी थी। उन्होंने बताया था कि ‘मैं अपनी शादी के बारे में आप लोगों से बात करना चाहती हूं। अतहर और मैंने 20 मार्च को जयपुर में कलेक्टर सिद्धार्थ महाजन के सामने शादी रचा ली थी। शादी के बाद टीना और अतहर ने दो बार रिसेप्शन किया था, एक कश्मीर में और दूसरा दिल्ली में। टीना हिंदू हैं और अतहर मुस्लिम, एेसे में उनकी शादी का भी खूब विरोध हुआ था।

This Article First Published On PUNJABKESARI