17 साल की इस लड़की के संघर्ष की कहानी सुन कांपने लगेंगे आपके पैर, किया कुछ ऐसा की आज खुद के दम पर बनी DSP


वर्तमान में और पिछले एक दशक से जो महिलाओ को रूप सामने आया है उससे यही लगता है की वह हर क्षेत्र में पुरुष से आगे निकल गयी है। उच्च प्रशासनिक पदों पर भी वह अपनी एहम भूमिका निभाती नजर आ रही है। आज ऐसी ही एक खास महिला की कहानी हम आपको बताने जा रहे है जिसने  शादीशुदा होने के बावजूद गांव से निकालकर डीएसपी के पद पर पहुंची और देश की सेवा कर रही हैं।जी हाँ इस लड़की की कहानी जानने के बाद आप देश की लड़कियों पर गर्व करने लगेंगे।

दरअसल ये कहानी अनीता नाम की एक लड़की की है जिसने अपना जीवन बेहद तनावपूर्ण तरीके से देखा है जिसके आगे कोई रास्ता नहीं था फिर भी इस लड़की ने इतना बड़ा पद हासिल कर के आज नाम कमाया है।  17 साल की उम्र में उसकी 27 वर्षीय व्यक्ति से शादी हो गई थी और उसे गंभीर आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ा था।इस लड़की की कहानी आपकी आँखों में आंसू ला देगी। बस इस लड़की के मन में कुछ बनने की चाह थी जिसने इसे राह दी और आज इसने इतना बड़ा मुकाम हासिल कर लिया है।

गरीबी के चलते परिवार वालो ने इस लड़की की शादी उम्र में 12 साल बड़े शख्स से कर दी थी। जबकि अभी अनीता नाबालिक ही थी अनीता ने शादी के बाद भी पढ़ाई जारी रखी , उसने ग्रेजुएशन कम्पलीट किया फिर सरकारी नौकरी की तरफ रुझान कर लिया लेकिन फिर भी हालत सुधरे नहीं और पढ़ाई के दौरान उसके पति का एक्सीडेंट हो गया था जिसकी वजह से उसे पढ़ाई से ब्रेक लेना इसी बीच उन्होंने बैंक की परीक्षा भी पास कर ली लेकिन 3 साल में ग्रेजुएशन न कर पाने की वजह से उन्हें यह मौका गंवाना पड़ा। पर जब जीवन में कुछ करने की ठान रखी हो तो फिर किस्मत ही आड़े नहीं आती।

जैसे ही पति का एक्सीडेंट हुआ तो सारी जिम्मेदारी अनीता पर आ गयी जिसकी वजह से पैसे कम होने की वजह से उन्होंने क्रैश कोर्स किया और साथ में किसी छोटे पारलर में काम कर के घर भी चलाया और वन विभाग की परीक्षा की तैयारी की फिर अनीता की मेहनत रंग लाई उन्होंने 4 घंटे में 14 किलोमीटर पैदल चलकर वन विभाग की परीक्षा पास की और उन्हें 2013 में बालाघाट में पहली पोस्टिंग मिल गई। लेकिन अनीता के स्वभाव में रुकना लिखा ही नहीं है। वनरक्षक बनने के बावजूद सब इंस्पेक्टर परीक्षा की तैयारी करती रही, लेकिन उनकी किस्मत में एक सिपाही नहीं बल्कि प्रशासक बनना लिखा था। वह एसआई के साथ ही मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग परीक्षा की तैयारी करती रही।