जानिए कौन हैं हरलीन देओल जिनके एक कैच को देख PM मोदी ने की जमकर तारीफ बताया शानदार और अद्भुत


भारत और इंग्लैंड की महिला क्रिकेट टीमों के बीच टी-20 सीरीज शुरु हो चुकी है. इस सीरीज का पहला इंग्लैंड ने जीता तो दूसरा टीम इंडिया जीत चुकी है लेकिन इस मैच में एक कैच लपकने के बाद से ही हरलीन देओल रातो-रात सुर्खियां बटोरने लगी हैं. पीएम मोदी से लेकर प्रियंका गांधी और सचिन तेंदुलकर ने इस कैच की जमकर तारीफ की है. 23 साल की हरलीन ने काफी सूझबूझ का परिचय देते हुए इस कैच को लपका था.

हरलीन ने मैच के 19वें ओवर में शिखा पांडे की गेंद पर एमी जोंस का कैच लपक उन्हें पवेलियन की राह दिखाई थी. इस कैच के बाद से ही वे सोशल मीडिया पर काफी वायरल भी हो रही हैं. हरलीन देओल पंजाब की रहने वाली है लेकिन भारतीय क्रिकेट टीम में हरलीन हिमाचल प्रदेश का प्रतिनिधित्व कर रही हैं. उनके माता-पिता अभी मोहाली में रहते हैं. हरलीन के पिता बीएस देओल एक बिजनेसमैन हैं और मां चरणजीत कौर देओल पंजाब सरकार की कर्मचारी हैं.

हरलीन की मां चरणजीत कौर ने बीबीसी पंजाबी के साथ बातचीत में बताया कि बचपन से ही हरलीन को स्पोर्ट्स का शौक था. हालांकि चरणजीत के परिवार में किसी का भी खेल से कोई खास ताल्लुक नहीं था लेकिन हरलीन स्पोर्ट्स में काफी एक्टिव थीं और वे बचपन में फुटबॉल खेलना पसंद करती थीं.

चरणजीत कौर ने बताया हरलीन 4 साल की उम्र से ही लड़कों के साथ फुटबॉल खेलती थीं और वो मोहाली में फुटबॉल की बेस्ट खिलाड़ी भी चुनी जाती रहीं. हालांकि आठ साल की होने पर हरलीन ने क्रिकेट की तरफ अपना रुख किया और अपने गेम को बेहतर करने के लिए वो गर्ल्स क्रिकेट एकेडमी धर्मशाला से जुड़ गईं.

भारतीय क्रिकेट टीम में एक बल्लेबाज और स्पिन गेंदबाज के तौर पर अपनी पहचान बनाने वाली हरलीन अपनी फिटनेस को लेकर काफी सजग हैं. उनकी मां चरणजीत ने कहा कि हरलीन अपने करियर को लेकर इतना ज्यादा फोक्स्ड हैं कि वे किसी पारिवारिक आयोजन में भी शामिल नहीं होती हैं.हरलीन साल 2012 से ही अपनी फिटनेस का पूरा ख्याल रखती हैं. पिछले साल कोरोना लॉकडाउन के चलते हरलीन अपनी फैमिली के साथ ही रहीं तो उन्होंने घर पर ही अपने लिए जिम बना लिया था और वे छत पर क्रिकेट की प्रैक्टिस किया करती थीं.

हरलीन अपनी फिटनेस को दुरुस्त रखने के लिए मीठे से दूर रहती हैं. गौरतलब है कि भारत की वीमेन टीम दूसरा टी 20 मैच इंग्लैंड को हरा चुकी है और सीरीज में 1-1 से बराबरी कर चुकी है. इस मैच में भारतीय टीम ने शानदार फील्डिंग का प्रदर्शन करते हुए इंग्लैंड के चार खिलाड़ियों को रन आउट किया था जिसमें से एक रन आउट हरलीन देओल का भी था.