इस नवरात्रि जानिए माता रानी के ऐसे मंदिर के बारे में जहां चढ़ाया हुआ भोग बन जाता है बर्फ


जैसा की हम सभी जानते है नवरात्रि के मौके पर पूरे देश के देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ लगी हुई दिखाई दे रही हैं, खासकर उन देवी मंदिरों में ज्यादा भीड़ हैं। जहां की मान्यता दूर-दूर तक विख्यात है। आपको बता दे ठीक इसी तरह का एक विख्यात देवी मंदिर उत्तराखंड में चमोली के जोशीमठ में भी मौजूद हैं। इस मंदिर में एक ही शिला पर मां दुर्गा के नौ अवतार विराजमान नज़र आते हैं। आपको बता दिया जाए कि यहां नवरात्रि में मां नव दुर्गा के नौ रूपों की विशेष पूजा होती दिखाई देती हैं।

जानकारी दे दिया जाए कि इसके अलावा इस मंदिर की अनेक ऐसी विशेषताएं मानी जाती हैं जिनके वजह से मां के भक्तों की मंदिर पर अटूट आस्था रखते नज़र आते हैं। इस कारण से जोशीमठ क्षेत्र के लोगों के अलावा दूर-दूर से लोग यहां आकर मां दुर्गा की विशेष पूजा अर्चना करते दिखाई देते हैं। इस मंदिर को सिद्ध पीठ भी माना जाता है। बता दिया जाए कि इस मंदिर में मां दुर्गा के नौ रूपों शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और सिद्धदात्री की प्रतिमा स्थापित होते देखी गई है।

आपको जानकारी दे दिया जाए कि नवरात्रि में भक्त मां दुर्गा की विशेष पूजा अर्चना करते दिखाई देते हैं। इस वजह से सुबह से ही नवरात्रि के अवसर पर भक्तों की भारी भीड़ मंदिर में दिखाई देती हैं। इसके अलावा मां का भव्य श्रृंगार भी किया जाता है और मां से क्षेत्र की खुशहाली के साथ समृद्धि की प्रार्थना होती देखी गई है।

जानकारी दे दिया जाए कि बद्रीनाथ के धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल,भोला सिंह नामण, भरत सती और भगवती प्रसाद नंबूरी खुलासा करते हुए बताते हैं कि नव दुर्गा मंदिर की सबसे बड़ी विशेषता यह मानी जाती है कि जो भी भक्त यहां मां दुर्गा को मक्खन या फिर घी चढ़ाता हुआ नज़र आता हैं वह जमकर बर्फ बन जाया करता है है। मंदिर परिसर के गर्भ गृह में चारों तरफ दीवारों पर बर्फ के समान मक्खन साफ साफ नज़र आती हैं।

जानकारी दे दिया जाए कि परंपरा के मुताबिक क्षेत्र में जब भी पहली फसल होती दिखाई देती हैं तब मां दुर्गा को सबसे पहले ग्रामीण भोग लगाया करते हैं। इसे गढ़वाली भाषा में भरपूजा के नाम से भी जाना जाता हैं। आपको बता दे इस वजह से मां को स्थानीय लोग हर दिन भोग प्रसाद लगाकर अपने घर के धन और धान्य की मनोकामना मांगते नज़र आते हैं।