एक आतंकवादी की पत्नी बनी रामायण की “माता सीता” जानिये इससे जुड़ी वजह


ऐतिहासिक सीरियल ‘रामायण’ के हर कलाकार ने दर्शकों के बीच एक खास, बड़ी और अमिट पहचान बनाई थी। 34 साल पहले आए इस सीरियल की मुख्य कास्ट को दर्शक आज तक नहीं भूले हैं। इस ऐतिहासिक धारावाहिक का निर्देशन दिवंगत और अनुभवी निर्देशक रामानंद सागर ने किया था। ‘रामायण’ में अरुण गोविल ने भगवान राम की भूमिका निभाई थी। लक्ष्मण की भूमिका सुनील लहरी ने निभाई है। हनुमना के रोल में दारा सिंह और रावण के रोल में अरविंद त्रिवेदी नजर आए थे. वहीं एक्ट्रेस दीपिका चिखलिया माता सीता के रोल में नजर आई थीं. रामायण के कलाकारों ने अपने बेहतरीन काम से सभी का दिल जीत लिया।

श्री राम और माता सीता का किरदार निभाने वाले अभिनेता अरुण गोविल और दीपिका चिखलिया को लोग सही मायने में भगवान मानते थे और लोग जहां भी जाते थे उन्हें ढेर सारा प्यार और सम्मान देते थे। कई बार लोग उनके पैर छूते थे। जब टीवी पर ‘रामायण’ का प्रसारण हुआ था तब दीपिका महज 22 साल की थीं। दीपिका ने कई फिल्मों में भी काम किया है और अब भी वह फिल्मों में काम कर रही हैं।

धारावाहिक ‘रामायण’ में सीता की भूमिका के लिए प्रसिद्धि पाने वाली दीपिका चिखलिया एक आतंकवादी की पत्नी की भूमिका नहीं निभाना चाहती थीं क्योंकि उन्हें अपनी सीता छवि की चिंता थी। लेकिन, जब फिल्म की टीम ने उन्हें स्क्रिप्ट सुनाई तो वह भावुक हो गईं। दरअसल फिल्म में अफजल गुरु को बेहद प्रतीकात्मक रूप में दिखाया गया है। दरअसल, यह फिल्म मां और बेटे के मजबूत रिश्ते पर आधारित है। फिल्म की कहानी यह है कि यह तय करना है कि इसका कौन सा नायक गालिब बंदूक और कलम के बीच चयन करता है।

फिल्म ‘गालिब’ को लेकर चर्चाओं में आ गए हैं। बताया जा रहा है कि यह खूंखार आतंकी अफजल गुरु और उसके आसपास की घटनाओं से जुड़ी फिल्म है। इस फिल्म में दीपिका आतंकी अफजल गुरु की पत्नी की भूमिका निभा रही हैं। गौरतलब है कि माता सीता का किरदार निभाने वाली दीपिका चखलिया अब बड़े पर्दे पर एक आतंकी की पत्नी के रूप में नजर आएंगी।

हाल ही में एक इंटरव्यू में दीपिका चिखलिया ने अपनी फिल्म के बारे में जिक्र किया था। वह फिल्म में अपने चरित्र के बारे में भी ज्यादा खुलासा नहीं कर रही थी क्योंकि वह तब एक अनुबंध में बंधी थी। लेकिन, कम से कम दीपिका ने कहा, ‘मेरा पहला प्यार अभिनय है। मैं अब भी कैमरे के सामने काम करना चाहता हूं लेकिन मैं खुद को प्रमोट नहीं कर पा रहा हूं। तो यह फिल्म मेरे पास आई और मैंने इसे स्वीकार कर लिया। मुझे यकीन है कि इसमें काम देखकर और लोग मुझसे संपर्क करेंगे। यह कह कर दीपिका बार-बार अपने स्वाभिमान को महसूस कर रही हैं और इस दौरान उनका गला भी भर आया.

आपको बता दें कि आयुष्मान खुराना की फिल्म ‘बाला’ में दीपिका चिखलिया ने फिल्म के मुख्य किरदार की मां की भूमिका निभाई थी। इस फिल्म में उनके किरदार को भी काफी सराहा गया था। फिल्म ‘बाला’ के बाद उन्हें ऐसे कई किरदारों के ऑफर मिलते रहे। दीपिका को अभी भी ढेर सारे ऑफर्स मिलते हैं और वो कहानियां भी सुनती आ रही हैं. लेकिन ‘अमर उजाला’ से बात करते हुए वह कहती हैं, ‘मुझे पैसे कमाने के लिए फिल्में नहीं करनी चाहिए। मेरा पूरा और सुखी संसार ईश्वर की कृपा से भरा हुआ है। अभिनय मेरा शौक था और रहेगा।