अंतिम संस्कार में अचानक मृतक ने ताबूत पर दी दस्तक, कब्रिस्तान में फैली दहशत


इस दुनिया में कई बार ऐसी घटनाएं हो जाती हैं, जिन पर यकीन करना बेहद मुश्किल होता है। कुछ लोग इसे झूठ समझकर नजरअंदाज कर देते हैं। वहीं कुछ लोग इसे चमत्कार बताने लगते हैं। ऐसा ही एक वाकया एक श्मशान घाट में हुआ। यहां कुछ ऐसा हुआ जिसके बाद वहां मौजूद लोगों के होश उड़ गए. अगर कब्रिस्तान में मृतक ताबूत पर दस्तक देने लगे तो आप क्या करेंगे? यकीनन आप भी डर जाएंगे। ये कोई कल्पना नहीं बल्कि हकीकत थी। महिला के अंतिम संस्कार के लिए लोग कब्रिस्तान में खड़े थे। अचानक मृत महिला ने ताबूत को अंदर से पीटना शुरू कर दिया। इससे वहां हड़कंप मच गया। आइए जानते हैं क्या है यह मामला।

पेरू में हुई यह घटना

पेरू में हुई ये अजीबोगरीब घटना. यहां रोजा इसाबेल नाम की महिला का एक्सीडेंट हो गया था। वह परिवार के अन्य सदस्यों के साथ कहीं जा रही थी तभी यह हादसा हुआ। अचानक कार का एक्सीडेंट हो गया। हादसा इतना भयानक था कि उसके परिवार के सभी सदस्यों को गंभीर चोटें आईं। वहीं रोजा इसाबेल और एक अन्य सदस्य की हालत काफी गंभीर हो गई थी. जब दोनों को अस्पताल ले जाया गया तो डॉक्टरों ने दोनों का चेकअप कर मृत घोषित कर दिया. तीन अन्य सदस्यों की हालत नाजुक बताई जा रही है। इसके बाद रोजा इसाबेल को दफनाने की प्रक्रिया शुरू की गई।

अंतिम संस्कार में ताबूत दस्तक देने लगा

26 अप्रैल को रोजा का अंतिम संस्कार किया जाना था। उनके शव को ताबूत के साथ कब्रिस्तान लाया गया। उनके दोस्त और करीबी भी यहां मौजूद थे। रोजा के निधन से सभी को गहरा दुख पहुंचा था. उनकी अचानक हुई मौत से वहां मौजूद लोगों के आंसू छलक पड़े। रोजा के इस दुनिया से चले जाने से हर कोई दुखी था। महिला के अंतिम संस्कार की सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

जब मैंने ताबूत खोला…

केवल ताबूत के साथ उन्हें दफनाने का काम बचा था। अचानक कुछ ऐसा हुआ जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की होगी। ताबूत के अंदर से दस्तक की आवाज आई। इसके बाद पूरे कब्रिस्तान में दहशत फैल गई। घटना को लेकर लोगों में हड़कंप मच गया। कब्रिस्तान में मौजूद कुछ लोगों ने हिम्मत दिखाई और लोगों से शांत रहने को कहा. ताबूत से दस्तक की आवाज क्यों आती है? यह पता लगाने के लिए जब सीमेंटरी के केयरटेकर ने ताबूत खोला तो वह हैरान रह गया।

ताबूत खोला तो वह हैरान रह गया

रोजा की आंखें अंदर से खुली हुई थीं। वह पसीने से तर हालत में नजर आ रही थी। महिला को जिंदा देखकर आनन-फानन में उसे अस्पताल ले जाने की तैयारी शुरू हो गई। तुरंत कुछ लोग रोजा को अस्पताल ले गए। वहां उनकी हालत बेहद नाजुक थी, इसलिए उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। रिश्तेदारों का कहना है कि रोजा कोमा में थी और डॉक्टरों ने उसे मृत समझ लिया। फिलहाल पुलिस घटना की जांच कर रही है।