ईसाई लड़के और मुस्लिम लड़की ने एक दूसरे से हिन्दू रीतिरिवाज़ों से की शादी और अपना लिया सनातन धर्म


प्यार को इस दुनिया का सबसे खूबसूरत एहसास कहा जाता है , जब व्यक्ति को प्यार होता है जो वो ना ही उम्र देखता है ना ही जाति धर्म क्यूंकि प्यार एक बहुत ही खूबसूरत एहसास है लोग अपने प्यार के लिए कई हदे भी पार कर जाते है , हमने कई बार देखा है की लोग अलग-अलग धर्म होने के बाद भी एक दूसरे के धर्मो के रीति-रिवाज़ो से शादी कर लेते है पर आज हम आपको एक ऐसे कपल के बारे में बताने जा रहे है जिनकी शादी हर जगह चर्चा का विषय बनी हुई है |

ईसाई लड़के और मुस्लिम लड़की ने हिन्दू रीति रिवाज़ो से की शादी 

उत्तरप्रदेश के बरेली शहर के एक लड़का लड़की ने ऐसी अनोखी शादी रचाई है जिसे देख कर सब उनकी तारीफ कर रहे है , दरहसल लड़का ईसाई धर्म का है और लड़की मुस्लिम धर्म की है पर दोनों ने शादी हिन्दू रीति रिवाज़ो से की है और सारी रस्में भी खुशी-खुशी निभाई है , दोनों की गोद भराई की रस्म भी हुई और शादी के दिन दोनों ने सात फेरे लिए |

दोनों ने अपना लिया सनातन धर्म

लड़के का नाम सुमित है और लड़की का नाम नूर है , दोनों की मुलाकात तीन साल पहले इंटर मीडिएट की पढ़ाई के दौरान हुई थी दोनों में दोस्ती हुई और फिर उन्हें एक दूसरे से प्यार भी हो गया जिसके बाद दोनों ने शादी करने का फैसला लिया और दोनों ने घर वाले अलग अलग धर्म होने की वजह से शादी के लिए नहीं मान रहे थे , दोनों ने फिर घर वालों की मर्ज़ी के बिना शादी करने का फैसला लिया |

दोनों पहले से ही सनातन धर्म के संस्कारो से प्रभावित थे

सुमित और नूर को पहले से ही हिन्दू रीति रिवाज़ और उनके संस्कार बहुत अच्छे लगते थे इसलिए दोनों ने हिन्दू परंपराओं से ही शादी करने का फैसला लिया और तो और ये ही नहीं दोनों ने अपना धर्म परिवर्तित करके हिन्दू धर्म ही अपना लिया और नूर ने अपना नाम बदलकर निशा रख लिया | दोनों शादी के बाद अब बेहद ही खुश है और निशा माता रानी की बड़ी भक्त भी बन चुकी है और वो हर साल नवरात्रि के दौरान माता के लिए व्रत भी रखेंगी |