पति-पत्‍नी के रिश्ते में आग लगा देती हैं ये चीजें, हमेशा बनाए रखे इनसे कोसो दूरी वरना…


ये कहा गया है की अगर हम मनुष्य चाणक्य नीति के अनुसार चले तो हमारा जीवन बेहद सुखदायक हो सकता है इसकी मदद से हम अपने जीवन में होनी वाली परेशानी से बच सकते है। आपको बता दे चाणक्य निति में कई समस्याओ का समाधान किया गया है। और तो और चाणक्य नीति में धन, स्त्री, करियर, दोस्तों और शादीशुदा जिंदगी से जुड़ी बातों का भी जिक्र किया गया है।

चाणक्य नीति हमे ये बताती है की हमे अपने जीवन में कब सम्भलने की जरूरत है और कब कौन सा कदम उठाना चाहिए। ताकि भविष्य में आने वाली परेशानी से बचा जा सके। आइये जानिए कौन सी बातें हमारी  वैवाहिक जीवन को बर्बाद कर सकती है और उनसे हमे बचकर रहना चाहिए। अगर आमतौर पर देखा जाए तो अहंकार हमारे सभी रिश्तो के लिए ख**नाक है ये रिश्ते को तोड़ देता है इसलिए हमे हमेशा किसी भी रिश्ते में अहंकार नहीं लाना चाहिए बता दे ये हर रिश्ते को कमजोर करता है।

इसलिए हम जिसके साथ अपना जीवन बिता रहे है उसके सामने तो अह*क!र बिलकुल भी नहीं होना चाहिए। इसलिए हमेशा अह!का* जैसे ना-श करने वाले शब्द को अपने रिश्ते से दूर ही रखना। अहंक*र के बाद जो शब्द हमारे रिश्ते को बर्बाद करता है वह है शक। अगर किसी भी रिश्ते में शक आ गया तो वह रिश्ता ज्यादा दिन तक नहीं रहता। इसलिए शक को हमेशा दूर करना चाहिए।

शक हमेशा इंसान को अंदर से खोखला कर देता है इसलिए रिश्ते में विश्वास लाये और शक की बात पर हमेशा अपने पार्टनर के साथ बैठ कर उसे क्लियर करे। ताकि आपके मन में किसी भी बात को लेकर आशंका न रहे। जूठ किसी भी रिश्ते को बर्बाद करने में एहम भूमिका निभाता है। इसलिए रिश्ते में जू-ठ कभी न लाये। जब तक बेहद जरूरी न हो तब जूठ न बोले जू-ठ एक पल के लिए तो रिश्ता बचा लेगा लेकिन बाद में ये रिश्ता खत्म भी कर सकता है इसलिए जूठ को हमेशा दूर ही रखे।