किसान पिता की बेटी की हुई हेलिकॉप्टर विदाई, असल सच्चाई जानकर लोग रह गए हैरान।


आजकल आपने सोशल मीडिया पर कई ऐसी कई पोस्ट आपने पढ़ी होगी जिसके बहु बेटियों को पहले से ज्यादा दर्जा दिया जा रहा है या उनके सम्मान में कुछ खास किया जा रहा हो। आजकल के बदलते दौर में बहुत कुछ बदल रहा है जिसे देख कर ख़ुशी हो रही है। दरअसल एक राजस्थान से मामला सामने आया है जहाँ  राजस्थान के भरतपुर से एक ऐसा ही नजारा देखने को मिला. जहां पर गरीब परिवार की बेटी को दुल्हन बनाकर हेलिकॉप्टर से ससुराल लाया गया. दुल्हन की इस शानदार विदाई को देखने के लिए गांव के काफी लोग मौके पर इकट्ठा हो गए. आइये आपको बताते है इस मामले के बारे में।

दरअसल ये मामला वैर विधानसभा की ग्राम पंचायत गांगरोली के गांव प्रेमनगर जहाँ एक मध्यवर्गी परिवार की बेटी  खुशबू की शादी सवाई माधोपुर के नादौती तहसील के गांव कैमरी के रहने वाले विजेंद्र सैनी से हुई. वो अपनी दुल्हनिया को लेने हेलिकॉप्टर से आए. जिसके बाद उन्होंने दुल्हन को उसके घर से पिक किया फिर हेलीकाप्टर में बिठा कर विदा हो गए जैसे ही आस पास के लोगो ने देखा वह इस नज़ारे को देखते ही रह गए।

दरअसल करौली के कैमरी गांव के रहने वाले दूल्हा के पिता राधेश्याम सैनी ठेकेदार है. उन्होंने बताया कि वो दिन पहले अपने परिवार के छोटे बच्चे को प्लास्टिक के हेलिकॉप्टर से खिला रहे थे. तभी गांव का एक शख्स उनके पासा आया और ताना कसते हुए बोला कि राधेश्याम ऐसा ही हेलिकॉप्टर से बच्चे को खिलाते रहेगा या अपने बेटे की दुल्हन को लाने के लिए हेलिकॉप्टर भेजेगा. फिर क्या था इस ताने के बाद राधेश्याम ने तय कर लिया बहू तो हेलिकॉप्टर से ही आएगी.

रिपोर्ट्स के मुताबिक दुल्हन खुशबू के पिता बेहद गरीब जैसे ही उन्होंने देखा उनकी बेटी हेलीकाप्टर से विदा होगी तो ये देख कर उनसे रहा नहीं गया और ख़ुशी के आंसू गिरने लगे उन्होंने ऐसा कभी नहीं सोचा था की ज़िन्दगी में कभी ऐसा होगा वह ऐसा दिन देख पाएंगे। यह शादी भरतपुर और करौली में चर्चा का विषय बनी हुई है. दूल्हा 12वीं क्लास में पढ़ता है और कपड़े की दुकान खोली है.  वहीं वैर थाना प्रभारी सुमेर सिंह का कहना है कि गांव में एक लड़की की शादी हुई है और दूल्हा हेलिकॉप्टर से आया और दुल्हन को हेलिकॉप्टर से ही लेकर गया. सुरक्षा के लिए हेलिकॉप्टर  के आसपास चारों ओर बेरिकेटिंग की गई थी.

वही दूसरी तरफ दूल्हे के पिता राधेश्याम सैनी ने बताया कि उनके दो बच्चे हैं एक लड़का और एक लड़की. बेटी की पहले शादी पहले ही कर दी थी. ग्रामीण ने मुझे तंज किया था कि हेलिकॉप्टर से अपने पुत्र की दुल्हन को लेकर आएगा क्या?  हमारे गांव का रास्ता बेहद खराब है और दो महीने पहले जब मेरे बेटे की शादी तय हो थी, तो मेरी पत्नी ने गांव की कुछ महिलाओं से कहा कि बेटे की शादी होने वाली है. लेकिन यहां का रास्ता बहुत खराब है इसलिए उन्होंने दुल्हन को हेलीकाप्टर से लेजाना ही ठीक समझा। .