पहले लिए सात फेरे, हरा मांग में सिन्दूर अगले दिन मुकर गयी दुल्हन, तोड़ शादी जानिए मामला


शादियों का सीजन चल रहा है ऐसे में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां शादी के कुछ समय बाद ही दुल्हन ने अपने नवविवाहित जीवन साथी दूल्हे के साथ बंधन तोड़ दिया। दुल्हन ने कहा कि दूल्हे की उम्र बहुत ज्यादा है. घटना वाराणसी के चौबेपुर इलाके की है. मिली जानकारी के मुताबिक संडे को कादीपुर खुर्द गांव के चौहान बस्ती में एक शादी होने वाली थी.

इस वजह से दूल्हे से साथ नहीं गई दुल्हन

बारात वाराणसी शहर के संकटमोचन क्षेत्र से गांव पहुंची और द्वारचार, जयमल के बाद हिंदू धर्म के रीति-रिवाजों के साथ सात फेरे लिए गए. सिंदूर दान के साथ शादी की सभी रस्में विधिवत पूरी की गई लेकिन सोमवार की सुबह जब विदाई की तैयारियां शुरू हुईं तो दुल्हन ने दूल्हे के साथ जाने से मना कर दिया. उन्होंने कहा कि दूल्हा बूढ़ा हो गया है। मामला चौबेपुर थाने तक पहुंचा दूल्हा-दुल्हन के दोनों तरफ से काफी देर तक पंचायत चलती रही, लेकिन दूल्हे की की बात पर कोई आगे नहीं बढ़ा और कुछ देर पहले ही दोनों की हुई शादी टूट गई.

पुरे रीती रिवाज से हुई शादी

 

आपकी जानकारी के लिए बता दें की शादी गांव कादीपुर खुर्द के रहने वाले राजा बाबू चौहान ने साकेत नगर संकटमोचन वाराणसी में बेटी काजल की शादी खुद से कर ली. प्रभु चौहान के पुत्र संजय चौहान। 5 जून को गांव में शादी की सारी रस्में पूरी की गईं. सोमवार की सुबह विदाई के समय जब ट्रैक्टर-ट्राली पर सारा सामान लदा हुआ था तो दुल्हन ने दूल्हे के साथ जाने से मना कर दिया.

खाली हाथ लौटा दूल्हा

 

इस पर दूल्हा-दुल्हन दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई और मामले को थाने ले गए। SHO अनिल मिश्रा ने दोनों पक्षों से बैठकर आपसी समाधान निकालने की कोशिश की। घंटों पंचायत चलती रही, लेकिन दुल्हन की जिद पर कोई आगे नहीं बढ़ा और चंद घंटों के लिए पति बने दूल्हे को बिना दुल्हन के ही खाली हाथ लौटना पड़ा.