क्या आपके पैरों में भी दिखती हैं नीली नसें? वक़्त रहते हो जाए सावधान वरना हो सकती है ये गंभीर बीमारी।


आजकल के समय में फास्टफूड का प्रचलन बहुत अधिक होगया है लोग घर से ज्यादा बाहर के खाने को महत्व देने लगे। क्रिस्पी, स्वाद ढूंढ़ने के चक्कर में घर का स्वच्छ खाना तो आधी से ज्यादा जनसंख्या भूल ही गयी है। जंक फ़ूड खाने के चक्कर में अधिक बीमारियां भी उत्पन होती नजर आ रही है। बहुत से लोग पतला होने का सपना देखते है ताकि उनके हाथो पर नसे दिखनी शुरू हो जाए जिसके चक्कर में वह जिम जाना शुरू करते है लेकिन कई लोग ऐसे है जिनकी हाथ, चेस्ट, पैर और बैक मसल्स या अन्य जगह की नसे अपने आप दिखने लग जाती है क्या आप जानते है इसके पीछे की वजह ?

हर समय ऐसी नसे दिखना आम नहीं होता कई बार ये किसी बीमारी का संकेत भी बताती है लेकिन अगर किसी के पैरों में नसें दिख रही हैं और उनका रंग नीला है, तो यह गंभीर स्वास्थ्य समस्या का संकेत हो सकती हैं. नीली नसों को वैरिकोज वेन्स  कहा जाता है और अधिकतर लोग पैरों की इन वैरिकोज वेन्स को अनदेखा करते हैं, जिससे आगे चलकर समस्या बढ़ सकती है.

वैरिकोज वेन्स मुख्यत: हाथ, पैर, एड़ी, टखने और पंजे में दिखाई देती हैं. यह सूजी हुई और अधिक मुड़ी हुई वो नसें होती हैं, जो नीले या गहरे बैगनी रंग की होती हैं. ये देखने में उभरी हुई होती हैं. इन नसों के आसपास स्पाइडर वेन्स (Spider veins) होती हैं. ये नसें लाल और बैगनी रंग की होती हैं, जो दिखने में काफी पतली एवं बारीक होती हैं.जब स्पाइडर वेन्स, वैरिकोज वेन्स को चारों ओर से घेर लेती हैं, तो उनमें दर्द और खुजली होने लगती है. वैरिकोज नसें ज्यादातर लोगों के लिए खतरनाक नहीं होती, लेकिन कुछ मामलों में इनसे कुछ गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं.

दरअसल जब वेरिकोज नसें  दिखती हैं, इसका मतलब है इंसान के नसों की दीवारें कमजोर हो जाती हैं. जब ब्लड प्रेशर बढ़ता है तो उसके कारण नसों में दबाव बढ़ जाता है और वे चौड़ी होने लगती हैं. इसके बाद जैसे-जैसे नसें खिंचने लगती हैं, वैसे-वैसे नसों में एक दिशा में खून का प्रवाह करने वाले वॉल्व अच्छे से काम करना बंद कर देते हैं.  इसके बाद खून नसों में जमा होने लगता है और नसों में सूजन आने लगती है, मुड़ने लगती हैं और फिर वे त्वचा पर उभरी हुई दिखाई देने लगती हैं. नसों की दीवार कमजोर होने के कई कारण हो सकते हैं.

डॉक्टर की माने तो नसे कमजोर होने के पीछे ये कारण हो सकते है आइये जानिए : हार्मोन का बैलेंस बिगड़ना,बढ़ती हुई उम्र ,अधिक वजन होना, लंबे समय तक खड़े रहना,नसों पर पर दबाव पड़ना इन सभी कारण की वजह से एक इंसान की नसे कमजोर हो सकती है जिसकी वजह से ये नसे स्किन से बाहर दिखने लगती है।