भ्र्ष्टाचार की खुली पोल,उद्घाटन में टूटना था नारियल पर टूट गई सड़क, जानिए पूरा मामला।


भारत देश जितना बड़ा है उतने ही बड़े फ्रॉड्स और भ्र्ष्टाचार यहाँ देखने को मिलते है। यहाँ कोई भी काम साधारण ढंग से नहीं किया जाता उसमे कहीं न कहीं झोल जरूर देखने को मिल जाता है। अब एक ऐसा मामला सामने आया है जहाँ भ्रष्टाचार की साफ़-साफ़ तस्वीर देखने को मिल गयी जी हाँ एक सड़क का शुभारंभ होने के लिए फोड़े जाने वाला नारियल तो नहीं फूटा, लेकिन वह सड़क उस जगह से जरूर टूट गई जहां सड़क शुभारंभ करने के लिए नारियल फोड़ा जा रहा था. अब आप खुद बताइये ये झोल कैसे उतपन किया गया होगा। आइये हम आपको बताते है क्या है पूरा मामला।

दरअसल जिस सड़क की हम बात कर रहे है वह  हल्दौर के मुख्य चौराहे से नवादा तुल्ला गांव की ओर नहर की पटरी पर बनी थी. इस पटरी के सहारे कड़ापुर, झालपुर, उलेढा, और हीमपुर दीपा को जोड़ना था.यह सड़क अभी 7 किलोमीटर के स्थान पर मात्र 700 मीटर ही बन पाई थी कि विभाग ने 700 मीटर बन चुकी सड़क का शुभारंभ कराने के लिए सदर विधायक सूची मौसम चौधरी को बुलाया था. बीती शाम 4:00 बजे सदर विधायक अपने पति ऐश्वर्या मौसम चौधरी के साथ सड़क का शुभारंभ करने के लिए मौके पर पहुंच गई थी.जिसके बाद ये घटना घटी।

जैसे ही पंडित जी ने विधिवत पूजा की तो उसके बाद नारियल तोड़ने का वक़्त आया तो विधायक में जैसे ही नारियल को सड़क पर तोड़कर सड़क शुभारंभ करने का प्रयास किया तो नारियल तो नहीं टूटा लेकिन उस जगह से सड़क जरूर टूट गई और वहां बजरी उखड़ कर इधर-उधर बिखर गई. इस बात पर विधायक नाराज हो गई और उन्होंने सड़क शुभारंभ का कार्यक्रम टाल दिया.जिसके बाद गांव वालों की शिकायत पर सड़क के मानक की जांच कराने के लिए वहीं बैठ गई और तुरंत पूरे मामले से डीएम उमेश मिश्रा को अवगत कराया गया. डीएम उमेश मिश्रा ने विधायक की बात सुनने के बाद पीडब्ल्यूडी के नेतृत्व में एक टीम बनाते हुए सड़क की जांच कराने का आश्वासन देते हुए टीम को मौके पर भेजा.

हालाँकि मौके पर टीम ने वहां पहुंचकर सबके सामने एक सैंपल ले लिया जिसे लैब में जांच के लिए भेजने की बात कही. विधायक सूची मौसम चौधरी ने कहा कि इससे हमारी सरकार की छवि खराब हो रही है और जांच के बाद इस मामले में कार्यवाही भी कराई जाएगी.विधायक के मुताबिक ये बेहद गलत है और शायद कोई उनकी छवि खराब करने के लिए ऐसा किया है इसलिए वह चाहते है की इसकी जाँच सुनिश्चित हो और पता लगा जाए इसके पीछे का क्या कारण है।