नहीं हो पाए आर्मी में भर्ती तो बन गए मछुआरे , आज एक ही महीने में कमाते है लाखो रूपए


हमारे देश के किसान और मछुआरे सबसे ज़्यादा मेहनत करते है , वो दिन-रात परिश्रम करते है ताकि हमे अच्छा भोजन मिल सके , आज हम आपको बिहार के एक ऐसे ही मछुआरे के बारे में बताने जा रहे है जिसका आर्मी में भर्ती होने का सपना पूरा ना हो सका तो उसने मछली पालन करना शुरू कर दिया और अब अपने इसी बिज़नेस से वो लाखों कमा रहा है |

आर्मी में भर्ती न हो पाए तो बन गए मछली पालन करने वाले 

हम जिस मछली के बिज़नेस करने वाले की बात कर रहे है उनका नाम विनोद सिंह है वो बिहार के गोपालगंज के रहने वाले है और वही पर 30 एकड़ की ज़मीन पर मछली पालन का बिज़नेस करते है उस बिज़नेस से करीब 15 लाख रूपये तक कमा लेते है , एक इंटरव्यू में विनोद ने कहाँ की वो हमेशा से ही एक देश भक्त रहे है और आर्मी में भर्ती होना चाहते थे जिसके लिए उन्होंने कड़ी मेहनत भी की पर वो आखरी राउंड में असफल हो गए थे , इसके बाद भी उन्होंने कई प्रयास किये पर वो असफल रहे जिसके बाद उन्होंने एक मछली पालन करने वाला बनने की सोची |

परिवार की आर्थिक स्तिथि नहीं थी ठीक नहीं थी 

उनके लिए ये बिज़नेस करना आसान नहीं था , शुरुआत में उन्हें काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा क्यूंकि उनके घर की आर्थिक स्तिथि इतनी अच्छी नहीं थी , उनकी चार बहने थी और उनकी भी ज़िम्मेदारी विनोद क ऊपर ही थी , परिवार को पालने के लिए वो अपने पिता के साथ खेती किया करते थे पर उससे उन्हें ज़्यादा फायदा नहीं होता था इसलिए फिर विनोद के दिमाग में मछली पालन करने का आईडिया आया |

बिज़नेस में हुआ फायदा 

मछली के बिज़नेस में विनोद को काफी फायदा हुआ जिसके बाद उन्होंने इस बिज़नेस को बढ़ाने के लिए लीज़ पर ज़मीन भी ले ली और तो और फिर मछली पालन को और भी बेहतर तरीके से करने के लिए उन्होंने ट्रेनिंग ली जिसके बाद उनका बिज़नेस और भी चलने लगा और वो 15 लाख कमाने लगे अब वो अपने आसपास के बाकी किसानों को भी मछली पालन करना सिखाते है  |