युवाओं के लिए सेना में भर्ती का सुनहरा अवसर अग्निपथ योजना शुरू, इन चीजों में मिलेगा लाभ


सरकार ने भारतीय युवाओं के लिए सशस्त्र बलों में “आक्रामक” के रूप में सेवा करने के लिए “अग्निपथ” नामक एक नई अल्पकालिक भर्ती नीति को मंजूरी दी है। केंद्र ने मंगलवार को भारतीय युवाओं के लिए सशस्त्र बलों में सेवा करने के लिए एक नई अल्पकालिक भर्ती नीति का अनावरण किया।

आवेदन कोन कर सकेगे?

अग्निपथ स्‍कीम में भर्ती के लिए युवाओं की आयु 17 साल 6 महीने से 21 महीने के बीच होनी जरूरी होगी। युवाओं को ट्रेनिंग पीरियड समेत कुल 4 वर्षों के लिए आर्म्‍ड सर्विसेज़ में सेवा का मौका मिलेगा। भर्ती सेना के तय नियमानुसार ही होगी। अग्निपथ नाम की यह योजना 17.5 से 21 वर्ष की आयु के युवाओं को चार साल की अवधि के लिए तीन सेवाओं में से किसी एक को “आक्रामक” के रूप में शामिल करने में सक्षम बनाएगी। अग्निपथ योजना, जिसे पहले “टूर ऑफ़ ड्यूटी” नाम दिया गया था, केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और तीनों सेनाओं के प्रमुखों की उपस्थिति में शुरू की गई थी।

सेवा निधी से वित्‍तीय रूप से सशक्‍त बनेंगे युवा

अग्निवीर, अपनी युवावस्था में चार साल का कार्यकाल पूरा होने पर, प्रोफेश्‍नल और पर्सनल रूप से परिपक्व और आत्म-अनुशासित होंगे। अग्निवीर के कार्यकाल के बाद नागरिक दुनिया में उनकी प्रगति के लिए जो रास्ते और अवसर खुलेंगे, वह निश्चित रूप से राष्ट्र निर्माण की दिशा में एक बड़ा प्लस होगा। इसके अलावा, लगभग 11.71 लाख रुपये की सेवा निधि अग्निवीर को वित्तीय दबाव के बिना अपने भविष्य के सपनों को आगे बढ़ाने में मदद करेगी, जो आमतौर पर समाज के आर्थिक रूप से वंचित तबके के युवाओं के लिए होता है।

चार साल बाद क्या होगा

सूत्रों के मुताबिक ट्रेनिंग और सर्विस पीरियड के दौरान स्किल्स को देखते हुए जवानों को डिप्लोमा या क्रेडिट्स दिए जाएंगे। इनका इस्तेमाल वह आगे की पढ़ाई में कर सकेंगे। चार साल का टेन्योर खत्म होने के बाद सरकार सैनिकों के पुनर्वास के लिए मदद करेगी। शुरुआती सैलरी 30,000 रुपए महीना होगी, जो चौथा साल खत्म होते-होते 40,000 तक पहुंच जाएगी। सरकार सैलरी का 30 फीसदी हिस्सा ’बचत’ के रूप में रखेगी और उतना ही ’सेवा निधि’ में जमा करेगी। बाकी 70 फीसदी सैलरी खाते में क्रेडिट होगी।

पारिश्रमिक और लाभ

एक आधिकारिक बयान के अनुसार, अग्निवीरों को तीन सेवाओं में लागू जोखिम और कठिनाई भत्ते के साथ एक आकर्षक अनुकूलित मासिक पैकेज दिया जाएगा।चार साल की अनुबंध अवधि के पूरा होने पर, अग्निवीरों को एकमुश्त ‘सेवा निधि’ पैकेज का भुगतान किया जाएगा, जिसमें उनका योगदान शामिल होगा, जिसमें उस पर अर्जित ब्याज, और सरकार से मिलने वाला योगदान ब्याज सहित उनके योगदान की संचित राशि के बराबर होगा।‘सेवा निधि’ को आयकर से छूट दी जाएगी। ग्रेच्युटी और पेंशन लाभ का कोई अधिकार नहीं होगा। अग्निवीरों को भारतीय सशस्त्र बलों में उनकी सगाई की अवधि के लिए 48 लाख रुपये का गैर-अंशदायी जीवन बीमा कवर प्रदान किया जाएगा।