युवक ने मंदिर में बजाया लाउडस्पीकर पर भजन तो हुई घमासान, जानिए क्या है पूरा मामला


देश के कई राज्यों में जहां लाउडस्पीकर को लेकर बहस होती है, वहीं गुजरात में ऐसी घटना हुई कि उन्होंने एक शख्स की जा-न ले ली. इस मामले में कई लोगों को गि*फ्तार किया गया है. 3 मई को एक मंदिर में लाउडस्पीकर का इस्तेमाल करने पर एक व्यक्ति की ह* कर दी गई थी.

लाउडस्पीकर बजाने को लेकर शख्स की  ह**

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गुजरात के मेहसाणा जिले के मुदर्दा गांव में एक मंदिर में लाउडस्पीकर बजाकर एक 40 वर्षीय व्यक्ति की कथित तौर पर लोगों ने पी*-पी* कर ह** कर दी. कहा जा रहा है कि यह शख्स उन्हीं के समुदाय का था. पुलिस का कहना है कि 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इन सभी के खिलाफ आईपीसी की धारा के तहत मामला दर्ज किया गया है. सभी पर ह**, दं**, मा*पी-ट का आ-रो-प लगाया गया है.

दिहाड़ी मजदूर था शख्स

मंदिर में लाउडस्पीकर बजाने पर युवक की पी*पी*कर ह** कर दी गई. पुलिस ने कहा कि जसवंतजी ठाकोर की मेहसाणा तालुका में उनके घर के पास एक छोटे से माताजी मंदिर में लाउडस्पीकर का इस्तेमाल करने के लिए पी** जाने के बाद मौ* हो गई. अस्पताल में इलाज के दौरान मौ* की पुष्टि हुई. यह घटना गत 3 मई की है. पुलिस द्वारा बताया जा रहा है कि पीड़िता जसवंतजी ठाकोर नाम का दिहाड़ी मजदूर था.

लाउडस्पीकर पर बड रहे थे गाने

आपको बता दें कि यह पूरी घटना 3 मई की शाम की है, जब अजीत ठाकोर ने अपने छोटे भाई जसवंत ठाकोर के साथ मुदर्दा के ठाकोर वास स्थित मेलदी माता मंदिर में एक कार्यक्रम का आयोजन किया था. रिपोर्ट के मुताबिक पूजा के बाद दोनों भाई लाउडस्पीकर से मंदिर में भजन बजाने लगे. इस पर मोहल्ले के सदाजी ठाकोर लाउडस्पीकर की आवाज सुनकर बाहर आए और पूछा कि लाउडस्पीकर पर गाने क्यों बज रहे हैं. जवाब में अजीत ने कहा कि देवी की पूजा के बाद भजन बजाए जा रहे हैं. इस बात को लेकर बहस छिड़ गई.