गजब: फर्जी आधार कार्ड और एक ही जमीन के कागज पर मिली 99 अपराधियों को बेल


उत्तर प्रदेश में अपराध दिन-प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे है. वहीं यूपी के फिरोजाबाद में इस साल हत्**, डकैती और चोरी जैसे अपराधों में शामिल कम से कम 99 लोगों ने फर्जी आधार कार्ड के जरिए अपने रिश्तेदारों-रिश्तेदारों को रिहा कराया. इसके अलावा इनमें से कई आरोपियों के लिए एक ही जमीन के कागजात का इस्तेमाल जमानत के रूप में किया गया था.

जमानत में सामने आए 99 अपराधियों के नाम…

 

फिरोजाबाद पुलिस की पड़ताल में यह खुलासा हुआ है. पुलिस का कहना है कि वह मामलों की गहराई से जांच कर रही है और ऐसे और भी मामले सामने आ सकते हैं. फिरोजाबाद के एसएसपी आशीष तिवारी ने बताया कि पूर्व में शिकायत मिली थी कि फर्जी आधार कार्ड से कई बार एक ही जमीन के कागजात लगाकर अपराधियों के रिश्तेदार, दोस्त व रिश्तेदार जमानत करा रहे हैं.

जमानत दिलाने वाले लोगों के खिलाफ मामला दर्ज…

 

जांच में 99 लोगों के नाम सामने आए, जिसके बाद पुलिस उनके खिलाफ कार्रवाई की तैयारी कर रही है. एएसपी ने कहा कि इन सभी मामलों में प्राथमिकी दर्ज की जाएगी और जमानत पर रिहा हुए इन सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा, ‘धोखाधड़ी से इन लोगों को जमानत दिलाने वाले लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया जाएगा.’ फर्जी दस्तावेजों के आधार पर जमानत मिलने के ज्यादातर मामले शिकोहाबाद में सामने आए हैं.

15 अपराधियों को जमानत मिल चुकी है…

जहां इसी तरह 15 अपराधियों को जमानत मिल चुकी है. इसके अलावा सिरसागंज में 11, दक्षिण थाने से 9, टूंडला व रसूलपुर में 7, रामगढ़ व माखनपुर में 6, पचोखरा व खैरगढ़ में 5, मतसेना, बसई मोहम्मदपुर, नसीपुर, जसराना व लाइनपार 4, नगला खंगर 3 व नगला नॉर्थ में एक. ऐसा मामला सामने आया है.