जमा किए पैसे से बहन को देने जा रहे थे गिफ्ट, ट्रैफिक पुलिस ने कर दिया ‘कंगाल’


घर से तैयार होकर कार से बहन के घर जा रहे भाइयों को पुलिस ने रोका और चालानी कार्रवाई कर दी. दोनों ने बहन के लिए जो पैसे इकट्ठे किए थे, उन पर चालान की मार पड़ गई. फिर उनके पास इतने पैसे भी नहीं बचे कि वो अपनी बहन को कोई तोहफा दे सकें. ये पूरा वाकया रेडिसन चौराहे पर घटित हुआ.

यहां ट्रैफिक पुलिस गाड़ियों पर चालानी कार्रवाई करने मैदान में उतरी और कई वाहनों के चालान काटे. इसी दौरान जब दो भाई वहां से गुजरे तो वाहन में खामी पाए जाने पर उन्हें चालान भरना पड़ा. ट्रैफिक एसआई बलराम सिंह ने बताया कि ट्रैफिक कंट्रोल रूम से चालानी कार्रवाई को लेकर आदेश मिले थे. रेडिसन चौराहे पर चालानी कार्रवाई की जा रही है.

चौराहे से गुजरने वाले सभी वाहनों को जांच से गुजरना पड़ा. खामी पाए जाने पर पुलिस ने चालान बनाए. चालानी कार्रवाई में फंसे शिवशंकर और महेश ने बताया कि वे भाई दूज मनाने बहन के घर जा रहे थे. रेडिशन चौराहे पर पुलिस ने उन्हें हाथ दिया. जैसे ही उन्होंने गाड़ी रोकी, कार से तत्काल एक पुलिसकर्मी ने चाभी निकाल ली.

ये तो मुझे पता है कि चालानी कार्रवाई होती है, लेकिन इस प्रकार से चाभी निकाल लेते हैं, यह पहली बार देखा. उन्होंने चालानी कार्रवाई की, जो रुपए बहन को देने के लिए रखे तो वह चालान में भर दिए. दोनों भाईयों ने बताया कि बहन से टीका लगवाना कैंसिल नहीं करेंगे, क्योंकि ऑफिस से एक दिन की तो छ़ुट्टी मिलती है. अब देखते हैं, पापा या फिर किसी दोस्त से रुपए लेकर जाएंगे. इसके बाद दोनों मौके से पैसे की व्यवस्था करने निकल गए.

जिस कार से दोनों भाई शिवशंकर और महेश अपनी बहन के घर जा रहे थ, उस वाहन की आगे की नंबर प्लेट टूटी थी. दोनों ने दलील दी कि बच्चे की साइकिल टकराने से गाड़ी की नंबर प्लेट टूट गई. ऐसे में त्योहार पर चालान काटना उचित नहीं हैं. इसके बाद भी पुलिस नहीं मानी और कार्रवाई को अंजाम दिया.

This Article First Published On ZEENEWS