Zomato में काम करने वाले 18 लोग एक ही दिन में बन गए करोड़पति जानिए कैसे


जोमैटो के शेयर इसके आईपीओ में तय कीमत 76 रुपये से करीब 51 फीसदी बढ़त के साथ बीएसई पर 115 रुपये पर लिस्ट हुए. इसके साथ जोमैटो से जुड़े 18 लोग रुपये में करोड़पति और अमेरिकी डॉलर में मिलिनेयर (10 लाख डॉलर) बन गए हैं।

फूड डिलीवरी चेन जोमैटो (Zomato) ने शुक्रवार को शेयर बाजार में धमाकेदार एंट्री की है। जोमैटो के शेयर इसके आईपीओ में तय कीमत 76 रुपये से करीब 51 फीसदी बढ़त के साथ बीएसई पर 115 रुपये पर लिस्ट हुए। इसके साथ जोमैटो से जुड़े 18 लोग रुपये में करोड़पति और अमेरिकी डॉलर में मिलिनेयर (10 लाख डॉलर) बन गए हैं।

शुक्रवार को कारोबार खत्म होने पर कंपनी के को-फाउंडर और सीईओ दीपेंदर गोयल की नेटवर्थ 4,650 करोड़ रुपये (62.4 करोड़ डॉलर) पहुंच गई। दीपेंद्र की जोमैटो में 5.5 फीसदी हिस्सेदारी है जिसमें ईसॉप्स (Esops) भी शामिल हैं।

करोड़ों के हुए शेयर इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी के को-फाउंडर और चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर गुंजन पाटीदार के शेयरों और ईसॉप्स की कीमत 363 करोड़ रुपये पहुंच गई. इसी तरह एक और को-फाउंडर और न्यू बिजनसेज के हेड मोहित गुप्ता के ईसॉप्स की कीमत 195 करोड़ रुपये हो गई।

शानदार हुई थी लिस्ट‍िंंग गौरतलब है कि जोमैटो का शेयर शुक्रवार को अपने इश्यू प्राइस 76 रुपये से करीब 51 फीसदी प्रीमियम पर 115 रुपये पर लिस्ट हुआ था। कारोबार के अंत में यह बीएसई (BSE) अपनी ओपनिंग प्राइस 115 रुपये से 9 फीसदी ऊपर 125.85 रुपये पर बंद हुआ। इसके आईपीओ को भी शानदार रिस्पांस मिला था और यह 40 गुना से ज्यादा सब्सक्राइब हुआ था।

रिपोर्ट के अनुसार 2019 में को-फाउंडर बनाए गए और सप्लाई फंक्शन के हेड गौरव गुप्ता के स्टॉक ऑप्शंस की कीमत भी 179 करोड़ रुपये हो गई. को-फाउंडर आकृति चोपड़ा के ईसॉप्स की कीमत 149 करोड़ रुपये पहुंच गई. शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद जोमैटो के चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर अक्षांत गोयल के ईसॉप्स की कीमत 114 करोड़ रुपये थी। कंपनी के इन अध‍िकारियों सहित कुल 18 लोग पहले ही दिन करोड़पति बन गए हैं. कई कंपनियां अपने कर्मचारियों को खास प्रक्रिया के तहत अपने शेयर (Share) खरीदने का मौका देती हैं या सैलरी पैकेज के तहत कुछ शेयर देती हैं। इसे एमप्लॉइज स्टॉक ऑप्शन प्लान (ESOP) कहा जाता है।