अपनी खुद की जान जोखिम में डाल कर 14 साल की बच्ची ने बचाई 2 साल के बच्चे की जान


आइए हम बताते हैं कैसे एक लड़की ने ढाई साल का बच्चे की जान बचाई। कशिश नामक एक लड़की की चर्चा उसके कामों से खूब हो रही है कशिश ने बहुत ही हिम्मत और बहादुरी के साथ एक ढाई साल के बच्चे की जान बचाई इसके लिए पुलिस भी उन्हें सम्मानित कर रही है।

खेलते हुए खो गया था बच्चा

बताया जा रहा है कि ढाई साल की मासूम बच्ची जिसका नाम आर्यन है वह 13 अप्रैल की रात को 8:30 बजे जब  खेलते खेलते घर से बाहर चला गया था और खेलते हुए घर से थोड़ी दूर निकल जाने के कारण वह खो गया था और ऐसे करते करते वह आगे भटक गया और उस दौरान ये अफवाह भी उड़ी थी कि आर्यन को एक महिला उठाकर  ले गई है जिस कारण आर्यन के माता-पिता की चिंता और बढ़ गई थी।

सीसीटीवी फुटेज से पता चला कैसे बचाई कशिश ने उस बच्चे की जान

सीसीटीवी में देखा गया है कि उस बच्चे के पास से बहुत लोग गुजर रहे थे पर सब नजरअंदाज कर रहे थे लेकिन जैसे ही कशिश ने उस बच्चे को देखा वह उसके पास गई और उसको अपने साथ घर ले गई कशिश समझ गई थी कि  वह बच्चा खो गया है  और उसके बाद कशिश ने उस बच्चे को अपने घर ले जाकर दूध बिस्किट खिला कर के सुला दिया। कशिश ने आर्यन का 8 घंटे तक ख्याल रखा तथा पूछे जाने पर कि कशिश तुम्हें बच्चे को घर ले आते वक्त बिल्कुल भी डर नहीं लगा वह बोली डर कैसा मैं कोई गलत काम थोड़ी ना कर रही हूं और उसकी बहादुरी देखकर सब प्रभावित हुए।

मां ने कहा सेना में जाना चाहती है कशिश

कशिश की मां ने बताया कि कशिश एक प्राइवेट स्कूल में पढ़ती थी महामारी के दौरान आर्थिक स्थिति खराब हो गई जिस कारण वह प्राइवेट स्कूल की फीस ना दे पाए जिसके चलते उन्हें कशिश का एडमिशन एक सरकारी स्कूल में करवाना पड़ा। वही कशिश की बहादुरी और समझदारी देखते हुए पुलिस ने उनकी पढ़ाई की जिम्मेदारी ली है और एसपी रजनीश वर्मा के द्वारा ऐसे बताया गया है कि बच्ची की अच्छी पढ़ाई लिखाई का इंतजाम किया जाएगा साथ ही कशिश के पिता को भी आर्थिक सहायता दी जाने की बात कही है।